जगदलपुर । Bastar News : बस्तर संभाग में लंबे समय से सरकारी नौकरियों के लिए भर्ती का रास्ता खुलने का इंतजार कर रहे शिक्षित बेरोजगारों को जल्द ही खुशखबरी मिल सकती है। संभाग में विभिन्न् सरकारी विभागों में रिक्त तृतीय और चतुर्थ श्रेणी के पदों को भरने के लिए गठित कनिष्ठ सेवा चयन बोर्ड को सक्रिय करने की दिशा में प्रकिया तेज कर दी गई है।

बोर्ड में परीक्षा नियंत्रक की नियुक्ति के लिए बोर्ड के अध्यक्ष एवं संभागायुक्त जीआर चुरेन्द्र ने राज्य शासन को पत्र लिखा है। साथ ही संभाग के सभी जिला कलेक्टरों को पत्र लिखकर तृतीय एवं चतुर्थ श्रेणी के रिक्त पदों की जानकारी एक सप्ताह के अंदर उपलब्ध कराने का निर्देश दिया गया है। रिक्त पदों की जानकारी मंगाने के साथ ही पदों को भरने संबंधित विभागों को वित्त मंत्रालय से अनुमति लेने कहा गया है।

विदित हो कि बस्तर संभाग में पांचवी अनुसूची लागू है और राज्य शासन के अनुरोध पर राज्यपाल द्वारा 2012 से ही तृतीय श्रेणी के गैर कार्यपालिक और चतुर्थ श्रेणी के सभी पदों पर भर्ती में स्थानीय लोगों को प्राथमिकता देने दो-दो साल के लिए छूट अवधि लगातार बढ़ाई जा रही है। बस्तर जिले में आखिरी बार 1000 से अधिक पदों पर एक साथ नियुक्तियां 2014 में हुई थीं। उसके बाद स्वास्थ्य एवं कुछ अन्य विभागों में वित्त विभाग से अनुमति लेकर भर्तियां की गई लेकिन इनकी संख्या काफी कम रही है। कनिष्ठ सेवा चयन बोर्ड जब भर्तियां शुरू करेगा तो यह संख्या 10 हजार तक पहुंच सकती है।

संभाग में ढाई लाख से अधिक बेरोजगार

बस्तर संभाग में नवंबर 2018 में लगभग दो लाख 62 हजार बेरोजगारों का पंजीयन रोजगार कार्यालयों में था। दिसंबर 2019 में यह संख्या घटकर दो लाख 58 हजार और दिसंबर 2021 में बढ़कर दो लाख 68 हजार पहुंच गई है। डेढ़ साल पहले 30 मई 2019 को कनिष्ठ सेवा चयन बोर्ड के गठन की घोषणा की गई थी। उस समय संभाग के सभी सातों जिलों से मंगाए गए रिक्त पदों की जानकारी में करीब 12 हजार तृतीय और चतुर्थ श्रेणी के पद थे। रिक्त पदों पर भर्तियां न होने व सरकारी सेवकों की लगातार सेवानिवृति तथा अन्य कारणों से रिक्त पदों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। जिला कलेक्टरों से जानकारी आने के बाद फरवरी मध्य तक रिक्त पदों के अंतिम आंकड़े सामने आ जाएंगे।

सीएम की घोषणा पर अमल हुआ, भर्तियां नहीं

बस्तर संभाग के सरकारी विभागों में रिक्त पदों की अधिक संख्या को देखते हुए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने 30 मई 2019 को यहां जगदलपुर में आयोजित बस्तर विकास प्राधिकरण की बैठक में कनिष्ठ सेवा चयन बोर्ड गठित करने की घोषणा की थी। इसके चार माह के अंदर चार सितंबर 2019 में बोर्ड के गठन के लिए अधिसूचना का प्रकाशन भी राज्य शासन ने कर दिया था। संभाग आयुक्त बस्तर इसकेे पदेन अध्यक्ष हैं।

संभाग के सभी जिलों के कलेक्टर इस बोर्ड के सदस्य बनाए गए हैं। अधिसूचना के प्रकाशन के बाद बोर्ड काम शुरू करता कि कुछ ही समय बाद कोरोना संक्रमण की दस्तक और फिर इसके संकटकाल में सब कुछ ठंडे बस्ते में चला गया। पिछले दिनों राज्यपाल ने भी बस्तर दौरे के दौरान संभाग में रिक्त सरकारी पदों को भरने को लेकर समीक्षा बैठक में अधिकारियों को दिशा निर्देश जारी किया था।

Posted By: Ravindra Thengdi

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags