जगदलपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। Bastar Weather Update: बस्तर संभाग भी कड़ाके की ठंड की चपेट में आ गया है। बीते 24 घंटे में न्यूनतम तापमान में पांच से छह डिग्री तक की गिरावट होने बस्तर में रविवार को शीतलहर जैसी स्थिति बन गई। अगले दो दिन और इसी तरह की स्थिति बनी रहने की संभावना मौसम विज्ञान केंद्र रायपुर ने जताई है। सुबह घना कोहरा छाया रहता है और सूर्योदय के बाद ही कोहरा छंटता है।

शाम को चार पांच बजे ही कंपकंपाने वाली ठंड की स्थिति बनने से शहर के सार्वजनिक स्थलों में नगर निगम द्वारा अलाव जलाए जाने लगे हैं। रविवार सुबह संंभाग में सबसे ठंडा नारायणपुर रहा। यहां न्यूनतम तापमान 4.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया जबकि एक दिन पहले शनिवार सुबह न्यूनतम तापमान 9.3 डिग्री था। रविवार सुबह जगदलपुर में 7.1, दंतेवाड़ा में 5.9, बीजापुर में 7.2, कांकेर में 5.8, सुकमा में 6.2 और कोंडागांव में 5.4 डिग्री न्यूनतम तापमान था।

शनिवार और रविवार सुबह न्यूनतम तापमान में पांच से छह डिग्री सेल्सियस तक की कमी दर्ज की गई। ठंड बढ़ने से लोग शाम होते ही घरों में दुबकने लगे हैं। सबसे ज्यादा बेसहारा लोगों को हैं जिनकी सर्द रातें फुटपाथों में गुजरती हैं। नईदुनिया ने शाम छह बजे शहर के कुछ क्षेत्रों का अवलोकन करने पर पाया कि गरीब लोगों की परेशानी ठंड से सबसे ज्यादा बढ़ी हैं। सिरहासार चौक के समीप मां दंतेश्वरी मंदिर के सामने भीख मांगने वाली महिलाएं कंबल ओढ़कर बैठी थी।

महिलाओं ने बताया कि पिछले दिनों कुछ समाजसेवी आकर कंबल देकर गए थे। कुम्हारपारा मार्ग पर एक दो स्थानों पर मानसिक रूप से विक्षिप्त दो तीन लोग नजर आए जो आग जलाकर ठंड से बचने की कोशिश कर रहे थे। रेलवे स्टेशन, बस स्टेंड में भी गरीब लोग आग जलाकर ताप रहे थे। मौसम विभाग के अनुसार 10 जनवरी के बाद ही न्यूनतम तापमान में वृद्धि होने की संभावना है। ऐसी स्थिति में और दो-तीन दिन लोगों को ठंड में रात गुजारनी होगी। इस चालू सर्द मौसम में अभी तक की सबसे कड़ाके की ठंड पड़ रही है जिसने लोगों के जनजीवन को प्रभावित किया है।

Posted By: Pramod Sahu

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close