जगदलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। तीन दिन पूर्व हरेली अमावस्या के दिन बस्तर दशहरा पर्व के पहले अनुष्ठान पाट जात्रा में दो बार पूजा पाठ के आयोजन के लिए भाजपा ने कांग्रेस नेताओं को आड़े हाथ लिया है। बस्तर दशहरा कमेटी के पूर्व अध्यक्ष एवं सांसद दिनेश कश्यप ने शनिवार को भाजपा कार्यालय में पत्रवार्ता लेकर कांग्रेस के सांसद व दशहरा कमेटी के पदेन अध्यक्ष दीपक बैज, जिले के प्रभारी मंत्री व स्थानीय विधायक पर दशहरा पर्व से जुड़ी पहली रस्म के साथ खिलवाड़ करने का आरोप लगाया।

उन्होंने कांग्रेस नेताओं से इस मामले में सार्वजनिक रूप से माफी मांगने और भविष्य में ऐसी गलती नहीं दोहराने की चेतावनी दी है। विदित हो कि 75 दिनों तक चलने वाले बस्तर दशहरा पर्व की शुरूआत पाटजात्रा रस्म के साथ होती है। इस बार सांसद, मंत्री और विधायक व कांग्रेस नेता प्रातः साढ़े नौ बजे पहुंचकर पूजा-पाठ की रस्म में शामिल हुए और बाद में हरेली के कार्यक्रम में शामिल होने अपने-अपने क्षेत्र के लिए रवाना हो गए थे।

इस पर राजपरिवार और मांझी, मुखिया आदि ने आपत्ति जताते हुए दोबारा पाटजात्रा की रस्म पूरी की थी। इसी को मुद्दा बनाते भाजपा नेताओं ने पत्रवार्ता लेकर नाराजगी व्यक्त की है। दशहरा कमेटी के पूर्व अध्यक्ष दिनेश कश्यप ने कहा कि बस्तर दशहरा का 611 साल पुराना गौरवशाली इतिहास रहा है।

पर्व की हर रस्मों को पूरा करने एक समय निर्धारित है। यहां कांग्रेस नेताओं ने अपनी सुविधा और उपलब्धता के अनुसार पाटजात्रा की रस्म पूरी की। कांग्रेस नेताओं की हड़बड़ी के कारण मांझी, मुखिया भी रस्म में शामिल नहीं हो पाए। इस बात को लेकर बस्तर की संस्कृति और परंपरा के संवाहकों में नाराजगी व्याप्त है।

कांग्रेसी सत्ता के सुख में मर्यादा भूल गए

पत्रवार्ता को संबोधित करते पूर्व मंत्री केदार कश्यप ने कहा कि कांग्रेसी सत्ता सुख में मर्यादा भूलते जा रहे हैं। कांग्रेस को सत्ता में आए हुए छह माह ही हुए हैं और इस कम अवधि में ही जिस तरह से प्रदेश में अराजकता की स्थिति बनी है, उससे जनता निराश है। विकास का कोई विजन इस सरकार के पास नहीं है।

कांग्रेस के मंत्री- विधायक अफसरों को अपमानित करने से नहीं चूक रहे हैं। स्थानांतरण की दुकान खुली हुई है। राशन दुकान संचालकों में काम छिनने का भय है। जिन वादों के सहारे कांग्रेस सत्ता में बैठी है, वे कब पूरे किए जाएंगे यह किसी को नहीं मालूम। जनता कांग्रेस के झूठ को समझ गई है।

पत्रवार्ता में पूर्व विधायक संतोष बाफना, बैदूराम कश्यप और लच्छू कश्यप तथा भाजपा के प्रदेश मंत्री किरण देव, श्रीनिवासराव मद्दी, योगेन्द्र कौशिक, योगेन्द्र पांडे, संजय पांडे, रूपसिंह मंडावी, रामाश्रय सिंह, राजेन्द्र बाजपेई, आलोक अवस्थी आदि अनेक प्रमुख पार्टी नेता मौजूद थे।

छत्तीसगढ़ में 20000 युवाओं को मिलेगा रोजगार, ऐसे बदलेगी तस्वीर

मनरेगा से रोजगार सृजन में छत्तीसगढ़ देश में चौथे स्थान पर