जगदलपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। कोरोना से बचने के लिए ग्रामीण क्षेत्र में कड़ाई अब भी नजर आ रही है। संभागीय मुख्यालय से जुड़े अधिकांश गांवों में ग्रामीणों ने खुद नाकेबंदी कर रखी है। इसके चलते क्षेत्र के सब्जी उत्पादक किसानों को नुकसान उठाना पड़ रहा है। शहरी क्षेत्र में कोरोना की रोकथाम के लिए लगभग हर चौक- चौराहे में पुलिस बल तैनात है जो अनावश्यक या बिना मास्क घूम रहे लोगों को दंडित कर तथा चौक में ही कोरोना जांच कर अस्पताल भेज रहे हैं।

दूसरी तरफ गांवों में ग्रामीण स्वयं सड़कों की नाकेबंदी किए हुए हैं। लगभग हर गांव की सड़क में कोटवार और युवकों की पहरेदारी है। बस्तर जिले का बजावंड क्षेत्र इंद्रावती और भस्केल नदी किनारे परंपरागत सब्जी उत्पादन के लिए चर्चित है। यहां के किसान लाकडाउन के चलते परेशान हैं परंतु वे शिकायत नहीं कर रहे हैं। बजावंड, तारापुर, टलनार, बनियागांव, नलपावंड, उलनार, पीठापुर के किसानों ने बताया कि लाकडाउन होने व वाहनों की आवाजाही न होने से वे शहर सब्जियां नहीं भिजवा पा रहे हैं, नाकेबंदी के चलते थोक सब्जी विक्रेता भी गांव नहीं आ रहे हैं। वे कहते हैं कि नुकसान हो रहा है लेकिन अभी जान की हिफाजत जरूरी है। उनका मानना है कि लाकडाउन अभी जारी रहना चाहिए क्योंकि लोग छूट का काफी दुरूपयोग करते हैं।

रोजमर्रा की वस्तुओं के दामों में वृद्धि

कोंडागांव। नईदुनिया न्यूज

लाकडाउन के दौरान खाने-पीने की वस्तुओं, राशन सहित लगभग सभी चीजों के दामों में वृद्धि हुई। चावल-दाल में 10 से 20 रुपये प्रति किलो तक का फर्क आ गया है। लगभग 15 दिनों से जारी लाकडाउन के कारण लोगों के घरों में रखी खाद्य वस्तुएं भी खत्म होने लगी हैं। ऐसे में जिन दुकानों में यह सामग्रियां हैं, वहां से मनमानी दर पर लेने जनता मजबूर है। प्रशासन की कोई निश्चित कार्ययोजना न होने से लोगों को सामान नहीं मिल पा रहे हैं। आवक न होने की बात कहकर व्यापारी भी खूब दाम बढ़ा रहे हैं। लाकडाउन के दौरान अनिवार्य परिवहन सेवाओं को सरकार ने छूट तो दे रखी है लेकिन सामानों की आवक कम है। जिला प्रशासन ने शहर के जिन चुनिंदा दुकानों को होम डिलीवरी के लिए अधिकृत किया है वे भी रुचि नहीं ले रहे हैं। उपभोक्ता किसी तरह सामान मिलने की बात कह कीमत से समझौता कर रहे हैं।

मुख्य खाद्य वस्तुओं के दाम

राहर दाल ग्रेड वन -110 से 120 रुपये किलो

मसूर दाल - 70 से 80 रुपये किलो

शक्कर -40 रुपये किलो

सरसों तेल- 160 रुपये लीटर

रिफाइंड तेल - 140 रुपये लीटर

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags