जगदलपुर। पिछले तीन दिनों से दक्षिण-मध्य बस्तर में हो रही वर्षा ने एक बार फिर जनजीवन को बुरी तरह से प्रभावित करना शुरू कर दिया है। अंचल की प्रमुख नदियां इंद्रावती, सबरी, मिंगाचल, शंकिनी, मलगेर आदि उफान पर हैं। नदी-नालों का जलस्तर तेजी से बढ़ रहा है।

राष्ट्रीय राजमार्ग-30 पर सुकमा जिला मुख्यालय में साई मंदिर के समीप पानी भरने से सोमवार सुबह से मार्ग बाधित है। यहां नाव के सहारे लोगों को पार कराया जा रहा है। संभागीय मुख्यालय जगदलपुर का सुकमा और बीजापुर दोनों जिलों से सड़क संपर्क कट गया है।

सुकमा-मलकानगिरी मार्ग पर झापरा के पास पानी का भराव होने से अंतरराज्यीय सड़क संपर्क भी टूट गया है। उधर किरंदुल-कोत्तावालसा रेलमार्ग पर दंतेवाड़ा व बस्तर जिले की सीमा पर काकलूर-कावड़गांव तथा कावड़गांव-डाकपाल स्टेशनों के बीच पानी भरने से रेल आवागमन रोक दिया गया है। इसी क्षेत्र में पहाड़ से चट्टान के टूटकर पटरी पर गिरे थे जिसे दोपहर बाद गैंगमेन के दल ने मौके पर जाकर हटाया। ऐसा पहली बार हुआ है जब किरंदुल रेल सेक्शन में रेलमार्ग पर पानी भरने से रेल आवागमन रोकना पड़ा है। मौसम विभाग ने अगले 24 घंटे में बस्तर अंचल में भारी से कहीं कहीं अति भारी वर्षा होने की संभावना जताई हैं। बीजापुर, सुकमा व बस्तर जिले में बाढ़ आपदा प्रबंधन को अलर्ट करते हुए राहत एवं बचाव कार्य की स्थिति निर्मित होने पर तत्काल सक्रिय होने के निर्देश सुबह ही दे दिए गए थे। वर्षा, बाढ़ तथा अधिकांश क्षेत्रों में सड़क संपर्क बाधित होने से सोमवार को बस्तर जिले में स्कूलों में कलेक्टर ने सुबह की अवकाश घोषित कर दिया था। इसके कारण स्कूल कालेज बंद रखे गए।

इंद्रावती खतरे के निशान के पार

अंचल की सबसे प्रमुख नदी इंद्रावती नदी का जलस्तर रविवार दोपहर तीन बजे खतरे के निशान (8.300 मीटर) को पार गया था। दंतेवाड़ा के छिंदनार व बीजापुर के पातागुड़म में इंद्रावती खतरे के निशान से उपर बह रही थी। सुकमा जिले के कोंटा में सबरी नदी का जलस्तर शाम पांच बजे वार्निंग लेवल (11.500 मीटर) पर पहुंच गया था। इंद्रावती के बैक वाटर से गोरियाबहार सहित इसके सहायक नाले भी उफान पर हैं। दोनों नदियों का जलस्तर लगातार बढ़ रहा है। बीजापुर मार्ग पर भैरमगढ़ के बांगापाल के पास डंकिनी नदी का पानी पुल से उपर बहने के कारण राष्ट्रीय राजमार्ग-63 सुबह से ही बाधित है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close