जगदलपुर। भगवान श्रीकृष्ण का जन्मोत्सव पूरे दो दिन शहर में हर्ष और उल्लास के साथ मनाया गया। गुरुवार रात जहां भगवान स्वामी जगन्नाथ मंदिर में भजन प्रतियोगिता के साथ अन्य प्रतिस्पर्धा हुई। शुक्रवार दोपहर बाद भारी बारिश के मध्य सरस्वती शिशु मंदिर के भैया- बहनों और यादव समाज द्वारा भगवान कृष्ण की झांकी में शोभायात्रा निकाल जगह - जगह दही हांडी फोड़ी गई। इधर इस्कॉन संस्था द्वारा सिरहासार भवन में श्रीकृष्ण जन्माष्टमी मनाई गई। इन सभी कार्यक्रमों में सैंकड़ों की संख्या में भक्त नाचते गाते शामिल हुए।

जगन्नााथ मंदिर में हुई स्पर्धाः दो साल बाद शहर में विभिन्न स्थानों पर कृष्ण जन्मोत्सव बड़े उत्साह के साथ मनाया गया। गुरुवार शाम छह बजे भगवान जगन्नाथ मंदिर में विभिन्न प्रतियोगिताएं प्रारंभ हुई। स्पर्धाओं में 100 से ज्यादा प्रतिभागी शामिल हुए। भजन प्रतियोगिता में ओम शिव शक्ति मानस मंडली ने प्रथम पुरस्कार प्राप्त किया। वहीं सोलह श्रृंगार स्पर्धा में श्रीमती तनुजा जोशी प्रथम, रंजीता पानी द्वितीय, सुनीता पांडे तृतीय। मटका फोड़ में खुशवंत प्रथम, सुशांत पाणिग्रहण द्वितीय, गुलशन पाणिग्रही तृतीय स्थान प्राप्त प्राप्त किया। फैंसी ड्रेस स्पर्धा में खुशबू जोशी प्रथम, तुष्टि जोशी द्वितीय, काव्य जोशी तृतीय स्थान पर रहीं। मेहंदी स्पर्धा में मीनाक्षी पाणिग्रही ने प्रथम, संघवी पांडे द्वितीय और संजना पाणिग्रही तीसरे स्थान पर रहीं। यह आयोजन 360 घर आरण्यक ब्राह्मण समाज द्वारा आयोजित था।

रात ठीक 12 बजे के पूर्व गर्भरुपी मिट्टी के घड़े से भगवान कृष्ण की प्रतिमा को बाहर निकाला गया तत्पश्चात पुजारी बसंत पंडा के सानिध्य में पंच द्रव्य से स्नान करा तथा नामकरण कर भगवान का जन्म उत्सव मनाया गया। इस मौके पर समाज के अध्यक्ष ईश्वर खंबारी, सचिव आत्माराम जोशी, मीडिया प्रभारी नरेंद्र पानीग्राही, महिला सदस्य श्रीमती आशा आचार्य रामचंद्र मंदिर के पुजारी योगेश मंडन, विभिन्ना देव गुड़ियों के पुजारी उपस्थित रहे।

शोभायात्रा में झूमते रहे कृष्ण भक्त : दलपत सागर चौक स्थित भगवान श्रीकृष्ण मंदिर से यादव समाज द्वारा साढ़े तीन बजे शोभायात्रा प्रारंभ हुई। जिसमें यादव समाज के विभिन्न पदाधिकारियों के साथ संसदीय सचिव, विधायक रेखचंद जैन विशेष रूप से मौजूद रहे। एक दर्जन से अधिक बच्चों ने राधा- कृष्ण की सजीव झांकी प्रस्तुत की। सिरहासार चौक, संजय बाजार, स्टेट बैंक चौक आदि स्थानों में यदुवंशियों ने हांडी मटकी फोड़ी। यह शोभायात्रा दंतेश्वरी मंदिर, संजय बाजार, चांदनी चौक, स्टेट बैंक, गोल बाजार से होते हुए श्रीकृष्ण मंदिर में विसर्जित विसर्जित हुई।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close