जगदलपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)।

किरंदुल-कोत्तावालसा रेलमार्ग पर दंतेवाड़ा जिले के किरंदुल रेलखंड अंतर्गत कमलूर-भांसी स्टेशन के बीच शनिवार सुबह जंबो मालगाड़ी का एक डिब्बा पटरी से उतर गया। 104 डिब्बों की मालगाड़ी लौह अयस्क भरने विशाखापट्नम से किरंदुल जा रही थी। सुबह साढ़े छह बजे भांसी स्टेशन पहुंचने से पहले मालगाड़ी का एक डिब्बा झटके के साथ पटरी से उतर गया। इस दुर्घटना के कारण सुबह साढ़े छह बजे से ही किरंदुल रेलखंड में मालगाड़ियों का आवागमन बंद है। देर शाम समाचार लिखे जाने तक रेललाइन बहाल नहीं हो पाई थी। घटना की खबर मिलते ही किरंदुल, बचेली और दंतेवाड़ा से रेल अधिकारियों की टीम घटनास्थल के लिए रवाना हो गई थी। अधिकारियों ने बताया कि सौ से अधिक श्रमिक काम पर लगाए गए हैं। शाम चार बजे दुर्घटनाग्रस्त डिब्बे को दोबारा पटरी पर लाने में सफलता मिल गई थी। मालगाड़ी से दुर्घटनाग्रस्त डिब्बे को अलग करने के बाद रेललाइन की मरम्मत का काम चल रहा है। दुर्घटना से पटरी को भी नुकसान पहुंचा है। इधर इस घटना के कारण सुबह से ही किरंदुल-बचेली से लौह अयस्क की ढुलाई ठप पड़ गई थी, इससे एनएमडीसी और रेलवे दोनों को आर्थिक नुकसान उठाना पड़ा है। दुर्घटनास्थल के नक्सल प्रभावित क्षेत्र में होने के कारण पुलिस और रेलवे सुरक्षा बल के जवानों की सुरक्षा के बीच पूरे दिन काम जारी रहा। रेल अधिकारियों ने प्रारंभिक जांच में दुर्घटना के पीछे नक्सली तोड़फोड़ की आशंका से इंकार करते डिब्बा के पटरी से उतरने का कारण तकनीकी बताया है।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस