जगदलपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

नगर पालिक निगम के चुनाव में मतदान केंद्रों की संख्या बढ़ने से नवीन मतदान केंद्रों को लेकर नई समस्या खड़ी हो गई है। मतदान केंद्रों की स्थिति के सत्यापन से जुड़ी रिपोर्ट में कुछ मतदान केंद्रों में कमरे का छोटा आकार परेशानी का कारण है तो कहीं पानी, बिजली, रैंप और छाया की व्यवस्था में कमी है। सेक्टर अधिकारी ऐसे मामलों की रिपोर्ट निर्वाचन कार्यालय के साथ सीधे लोक निर्माण विभाग को सौंप रहे हैं ताकि मतदान के पहले तक सुविधाएं जुटाई जा सकें। विदित हो कि विधानसभा और लोकसभा चुनाव में निगम क्षेत्र में 96 मतदान केंद्र भवन थे जिन्हें समय रहते सर्व सुविधायुक्त तैयार कर लिया गया था। निगम चुनाव में उन सभी मतदान केंद्रों के साथ 26 नए मतदान केंद्र भी बनाए गए हैं। सभी नए मतदान केंद्र भवन सुविधाओं के हिसाब से निर्वाचन आयोग की कसौटी पर पूरी तरह से फिट नहीं बैठ रहे हैं। ऐसे ही मतदान केंद्रों में से दो डॉ भीमराव अम्बेडकर वार्ड क्रमांक- 30 में हैं। यहां मंगल भवन में दो मतदान केंद्र 71 और 72 बनाए गए हैं। सेक्टर अधिकारी की रिपोर्ट के अनुसार मंगल भवन में एक हाल और दो सौ-सौ वर्गफीट के कमरे हैं। एक मतदान केेन्द्र हाल में बनाने की योजना है पर दूसरा मतदान केंद्र जिसे कमरे में स्थापित किया जाना है वहां कमरे का छोटा आकार परेशानी का सबब बन गया है। रिपोर्ट में दोनों कमरों के बीच की दीवार को ढ़हाने का सुझाव देते कहा गया है कि कमरे का आकार बढ़ाकर ही मतदान केंद्र को सुविधाजनक बनाया जा सकेगा। इस भवन में पानी और छाया की व्यवस्था भी नहीं है।

विवेकानंद वार्ड में एक स्कूल में तीन मतदान केंद्र

स्वामी विवेकानंद वार्ड क्रमांक-30 में शासकीय पूर्व माध्यमिक शाला हल्बाकोट में तीन मतदान केंद्र 73, 74 और 75 स्थित हैं। यहां दो अतिरिक्त कमरों जहां मतदान केंद्र स्थापित करना है, रैंप ही नहीं हैं। बिजली और पानी की सुविधा भी नहीं है। नगर निगम क्षेत्र के ऐसे ही कई दूसरे मतदान केंद्र भवन हैं जहां 21 दिसंबर को मतदान के पहले बुनियादी सुविधाएं जुटाना होगा।

Posted By: Nai Dunia News Network

fantasy cricket
fantasy cricket