जगदलपुर। नईदुनिया। Chhattisgarh News सुकमा में जहां पिछले शनिवार को मुठभेड़ में 17 जवान शहीद हुए थे, उसके आसपास नक्सलियों की बड़ी संख्या में मौजूदगी के खुफिया इनपुट पर बुधवार सुबह से बड़ा ऑपरेशन शुरू किया गया है। हेलीकॉप्टर और ड्रोन से नक्सलियों की गतिविधि की टोह लेकर जवान जंगल में उतर गए हैं।

बता दें कि बीते शनिवार को सुकमा जिले के मिनपा इलाके में नक्सलियों ने पीठ पीछे से एंबुस में फंसाकर जवानों पर कायराना हमला किया था जिसमें 17 जवान शहीद हो गए थे और 14 जवान घायल हुए थे। बुधवार को एक बार फिर बड़ी तैयारी के साथ सुकमा-बीजापुर जिले के जंगलों में फोर्स नक्सलियों के सफाए के लिए उतर गई है।

सुबह जगदलपुर से दक्षिण बस्तर के लिए दो हेलीकॉप्टर रवाना किए गए। जिन इलाकों में ऑपरेशन चलाए जा रहे हैं वहां ड्रोन से लगातार निगरानी की जा रही है। नक्सली एक बार अपने मंसूबे में कामयाब जरूर हो गए पर दोबारा ऐसा नहीं होने वाला। फोर्स पूरी तैयारी के साथ उतरी है।

देशभर में कोरोना वायरस की वजह से लॉकडाउन का एलान किया गया है पर नक्सली मोर्चे पर तैनात जवान अपने बैरकों में लॉक रहे तो नक्सलवाद कोरोना से बड़ा खतरा खड़ा हो सकता है। जवानों का हौसला न कोरोना तोड़ पाया है न नक्सली। अपने साथियों की शहादत से जवानों में आक्रोश है। बस्तर आईजी सुंदरराज पी ने बताया कि जवान नक्सलियों की मांद तक पहुंच चुके हैं। पूरे संभाग में एक साथ नक्सलियों की मांद को भेदने की मुहिम शुरू की गई है।

लूटे हथियार की फोटो वायरल कर नक्सल लड़ाकों की मौत स्वीकारी

याद दिला दें कि मंगलवार को आईजी बस्तर ने दावा किया था कि शनिवार को हुई मुठभेड़ में कम से कम आठ नक्सलियों के मारे जाने का इनपुट है। इसकी पुष्टि बुधवार को खुद नक्सलियों ने कर दी। नक्सलियों ने फोर्स से लूटे हथियारों की फोटो वायरल की। साथ ही नक्सली लड़ाकों के अंतिम संस्कार की फोटो भी जारी की।

हालांकि जारी फोटो में तीन नक्सलियों की अंतिम यात्रा को दिखाया गया है। शनिवार को मिनपा में हुई मुठभेड़ के बाद सोमवार को ये इनपुट मिला था कि मौके पर अब भी नक्सली कमांडर नागेश व अन्य नक्सली मौजूद हैं। नागेश ने ही हिड़मा के निर्देश पर इस मुठभेड़ का नेतृत्व किया था। जिस वक्त नागेश घटनास्थल पर था उस समय सुकमा में शहीद जवानों को श्रद्धांजलि देने सीएम भूपेश बघेल पहुंचे थे।

घायलों को लेकर भागे थे नक्सली

आईजी सुंदरराज पी ने कहा कि चिंतागुफा, बुरकापाल इलाके के मिनपा के एलमागुंडा कोराजडोंगरी में नक्सलियों की मौजूदगी की सूचना पर शनिवार को वहां फोर्स भेजी गई थी। मुठभेड़ के दौरान छह नक्सलियों को गोली लगने पर गिरते हुए जवानों ने देखा था, जिन्हें नक्सली कवर फायर करते हुए अपने साथ ले गए। नक्सली कमजोर पड़ने लगे तो दुलेड़ की ओर से जंगल से और नक्सली आए। जवान तीन घंटे तक आरपार की लड़ाई लड़ते रहे लेकिन हौसला नहीं खोया।

इनका कहना है

नक्सलियों की तलाश की जा रही है। जिन्होंने फोर्स को नुकसान पहुंचाया उन्हें बख्शा नहीं जाएगा। जहां मुठभेड़ हुई थी उस इलाके से नक्सली अब भाग गए हैं। सुकमा-बीजापुर के जंगलों में उनके आधार इलाकों में फोर्स गश्त कर रही है। जल्द ही जवान उन्हें सबक सिखाएंगे।

-डीएम अवस्थी, डीजीपी, छत्तीसगढ़

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay