जगदलपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

एनएमडीसी ऑयरन एंड स्टील प्लांट नगरनार के लिए जमीन देने वाली नगरनार सहित आसपास के आठ दस गांव की भू-प्रभावित किसान परिवारों की बेटियों को नौकरी के मामले में न्याय मिलने का भरोसा मुख्यममंत्री से मिला है। शुक्रवार को सर्किट हाउस में विधायक संतोष बाफना के नेतृत्व में बेटियों ने मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह से मिलकर भू- प्रभावित होने के बावजूद एनएमडीसी द्वारा नौकरी नहीं दिए जाने की शिकायत की। भू-प्रभावित बेटियों के संगठन की अध्यक्ष योगिताबाला ने मुख्यमंत्री को बताया कि पैतृक जमीन में बेटियों को भी हिस्सा मिला था। जिला प्रशासन ने एनएमडीसी स्टील प्लांट के लिए उनके हिस्से की जमीन का भी अधिग्रहण किया है। इसके बदले मुआवजा राशि तो प्रदान की गई है लेकिन नौकरी देने में टालमटोल किया जा रहा है जबकि ऐसे ही मामलों में परिवार के बेटों को अलग परिवार का दर्जा देकर नौकरी देने की कार्रवाई चल रही है। बेटियों ने मुख्यमंत्री से कहा कि नौकरी के मामले में बेटों के ही समान दर्जा उन्हें भी मिलना चाहिए। विधायक ने भी पूरी बातों से मुख्यमंत्री को अवगत कराया। मुख्यमंत्री ने शिकायत सुनने के बाद कहा कि किसी के साथ अन्याय नहीं होगा। नियमानुसार उचित कार्रवाई जरूर की जाएगी। उल्लेखनीय है कि स्टील प्लांट प्रभावित बेटियों जिनकी संख्या सौ के आसपास हैं पिछले छह माह से नौकरी के लिए लड़ाई लड़ रही हैं। धरना-प्रदर्शन के साथ समय-समय पर इनके द्वारा क्रमिक भूख हड़ताल भी की जा चुकी है।

Posted By:

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना