जगदलपुर। संभागीय मुख्यालय जगदलपुर से चार किलोमीटर दूर इंद्रावती तट पर निर्मित प्रदेश के पहले सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट का मंगलवार को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ले लोकार्पण किया। इस मौके पर उन्होंने इंद्रावती नदी की आरती तथा पूजा-अर्चना कर प्रदेश की खुशहाली व समृद्धि की कामना की। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने नदी तथा अन्य जलस्रोतों की स्वच्छता को सबसे जरूरी बताते हुए कहा कि इसे लेकर जन जन को जागरूक होना पड़ेगा।

प्रदेश के सबसे पहले सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट के निर्माण के लिए भूपेश बघेल ने बस्तर जिला प्रशासन और महापौर सफीरा साहू के नेतृत्व में जगदलपुर नगर निगम द्वारा किए गए कार्यों की सराहना की। साथ ही सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट का अवलोकन कर तकनीकी संबंधी जानकारी भी प्राप्त की। महापौर सफीरा साहू ने प्रदेश शासन द्वारा जलस्रोतों के संरक्षण के लिए चलाए जा रहे नरवा कार्यक्रम की प्रेरणादायक बताते हुए कहा कि इससे सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट को शीघ्र पूर्ण करने की प्रेरणा मिली है।

सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट की आधारशिला अगस्त 2019 में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल द्वारा रखी गई थी। इसका निर्माण निर्धारित समय-सीमा के भीतर पूरा करने में सफलता मिली है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट के निर्माण में प्रयुक्त तकनीकी के संबंध में जानकारी देते हुए कलेक्टर रजत बंसल ने बताया कि बालीकोंटा में अमृत मिशन योजनातंर्गत सीवरेज प्लांट की क्षमता 25 एमएलडी की है। जगदलपुर शहर में लगभग 180 लाख लीटर प्रदूषित पानी रोज दलपत सागर और इंद्रावती नदी में जाकर मिलता है। इस पानी में मौजूद बैक्टिीरिया, टर्बिडिटी और बढ़े हुए पीएच मान के कारण यह पानी दलपत सागर और इंद्रावती नदी के पानी को प्रदूषित कर देता था। शहर के इस गंदे पानी के शुद्धिकरण के लिए लगभग 10 किलोमीटर लंबे पाइपलाइन के माध्यम से इसे बालीकोंटा पहुंचाया जा रहा है।

तीन चरणों में पानी का शुद्धिकरण नदी में छोड़ा जाएगा

कलेक्टर बंसल ने बताया कि सीवरेज प्लांट में तीन चरणों में दूषित पानी के शुद्धिकरण के बाद इसे इंद्रावती नदी में छोड़ा जाएगा। प्लांट में प्रतिदिन 250 लाख लीटर पानी को साफ किया जा सकता है। शुद्धिकरण के बाद इस पानी को वापस इंद्रावती नदी में छोड़ने पर नदी के जलस्तर में आ रही कमी की समस्या से भी निजात मिलेगी। शहर से गंदा पानी के दस नाले दलपत सागर और इंद्रावती नदी में मिलते थे। इन सभी नालों को एक साथ जोड़कर आरसीसी पाइप द्वारा बालीकोंटा सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट में मेन पम्पिंग स्टेशन में लाया जायेगा।

इस अवसर पर प्रभारी मंत्री कवासी लखमा, सांसद दीपक बैज, बस्तर क्षेत्र आदिवासी विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष लखेश्वर बघेल, संसदीय सचिव रेखचंद जैन, क्रेडा अध्यक्ष मिथलेश स्वर्णकार, चित्रकोट विधायक राजमन बेंजाम, नगर निगम अध्यक्ष कविता साहू, पद्मश्री धर्मपाल सैनी, कमिश्नर श्याम धावड़े, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक जितेंद्र मीणा, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी रोहित व्यास, नगरनिगम आयुक्त प्रेम पटेल सहित जनप्रतिनिधि, शहर जिला कांग्रेस के अध्यक्ष राजीव शर्मा व कांग्रेस के कई प्रमुख पदाधिकारी, स्थानीय पंचायत के पदाधिकारी व अधिकारी कर्मचारी मौजूद थे।

---

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local