जगदलपुर। केंद्र सरकार द्वारा नगरनार स्टील प्लांट से अगले साल मार्च तक उत्पादन शुरू करने (कमीशनिंग) के निर्देश के बाद राष्ट्रीय खनिज विकास निगम (एनएमडीसी) और मेकान लिमिटेड के अधिकारियों की स्टील प्लांट में आवाजाही बढ़ गई है। इसी सप्ताह 27 से 30 तारीख के बीच दो दिन के लिए एनएमडीसी मुख्यालय हैदराबाद से अध्यक्ष सह प्रबंधक निदेशक सीएमडी सुमीत देब अधिकारियों की टीम लेकर नगरनार स्टील प्लांट के दौरे पर रहेंगे। उनके साथ निदेशक तकनीकी सोमनाथ नंदी, निदेशक वित्त अमिताव मुखर्जी व आधा दर्जन अन्य अधिकारी आएंगे। मेकान लिमिटेड के कुछ अधिकारी भी मुख्यालय रांची से आ रहे हैं। मेकान केंद्र सरकार की सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनी है और यहां नगरनार स्टील प्लांट के निर्माण में तकनीकी सलाहकार है।

नगरनार स्टील प्लांट में निर्माण की प्रगति देखने के साथ ही कमीशनिंग की तैयारी को लेकर अधिकारियों की उच्चस्तरीय बैठक होगी। बीते करीब पांच साल के दौरान यह तीसरा मौका है जब एनएमडीसी के सीएमडी नगरनार स्टील प्लांट परियोजना की समीक्षा के लिए यहां आ रहे हैं। इसके पहले 16 नवंबर 2017 को तत्कालीन सीएमडी एन बैजेंद्र कुमार और इसके बाद इसी साल 30 जून को वर्तमान सीएमडी सुमीत देब ने स्टील प्लांट आकर समीक्षा की थी। चार माह के भीतर देब एक बार फिर आ रहे हैं।

केंद्र सरकार के ड्रीम प्रोजेक्ट की सूची में

ज्ञात हो कि नगरनार स्टील प्लांट सार्वजनिक क्षेत्र की नवरत्न कंपनी एनएमडीसी का अपना देश का पहला स्टील प्लांट है। यह परियोजना भी केंद्र सरकार के ड्रीम प्रोजेक्ट की सूची में शामिल है। समय-समय पर इसकी प्रगति की समीक्षा केंद्र सरकार द्वारा भी की जाती है। केंद्र सरकार ने मार्च 2022 तक का समय स्टील प्लांट की कमीशनिंग के लिए दिया है। इसे देखते हुए प्लांट को शुरू करने जोरों से तैयारियां की जा रही हैं।

13 सालों से बन रहा है स्टील प्लांट

नगरनार स्टील प्लांट के लिए तीन सितंबर 2008 को आधारशिला रखी गई थी। 2014-15 तक इसे पूरा करने का लक्ष्‌य तय किया गया था जो संभव नहीं हो पाया। बीते 13 सालों से इसका निर्माण चल रहा है। 23 हजार 140 करोड़ रुपये की लागत से निर्माणाधीन इस स्टील प्लांट से सलाना तीन मिलियन टन स्टील का उत्पादन किया जाएगा।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local