जगदलपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। पिछले एक साल के दौरान कोरोना संक्रमण काल में बस्तर में यात्री ट्रेनों के पहिए भले की कई माह तक थमे रहे और आज भी केवल एक ही यात्री ट्रेन चलाई जा रही है लेकिन पूरे साल मालगाड़ियों की रफ्तार कम नहीं पड़ी।

यही नहीं बस्तर से लौह अयस्क की ढुलाई के पिछले सारे रिकार्ड भी टूट गए। बस्तर से होकर गुजरने वाली किरंदुल-कोत्तावालसा रेललाइन से माल ढुलाई में कोरोना संक्रमण काल में रेलवे को कितनी कमाई हुई इसके आंकड़े रेलवे ने भले ही सार्वजनिक नहीं हैं पर रिकार्ड स्तर तक माल ढुलाई करने से साफ हो गया है कि रेलवे को बस्तर से मोटी कमाई हुई है।

हाल ही में 31 मार्च को समाप्त हुए वित्तीय वर्ष में पूरे देश में माल ढुलाई के मामले में ईस्ट कोस्ट रेल जोन भुवनेश्वर नंबर एक पर रहा है। इस अवधि में (अप्रैल 2020 से मार्च 2021) जोन की सफलता में किरंदुल-कोत्तावालसा रेललाइन से माल ढुलाई का अंशदान 9.12 और वाल्टेयर रेलमंडल की सफलता में 30.59 फीसद रहा है। इस रेललाइन से 18.70 मिलियन टन माल की ढुलाई की गई। जबकि इसके पहले वित्तीय वर्ष 2019-20 में 17.52 मिलियन टन माल की ढुलाई हुई थी। ज्ञात हो कि पिछले साल वित्तीय वर्ष के प्रारंभ में मार्च 2020 में ही 23 तारीख को देश भर में लाकडाउन लग गया था। इस दौरान बस्तर से संचालित होने वाली सभी पांच यात्री ट्रेनें रोक दी गई थी। उस समय से अब तक केवल मालगाड़ियां ही चलाई जा रही हैं। इस बीच दिसंबर 2020 में केवल एक यात्री ट्रेन ही संचालित की जा रही है।

1.18 मिलियन टन माल अधिक ढुलाई : ईस्ट कोस्ट रेल जोन भुवनेश्वर से जारी माल ढुलाई के आंकड़ों के अनुसार किरंदुल-कोत्तावालसा रेललाइन से होकर गत वित्तीय वर्ष में 18.70 मिलियन टन माल की ढुलाई की गई। जो वित्तीय वर्ष 2019-20 की तुलना में 1.18 मिलियन टन अधिक रही है। जोन की उपलब्धि 204.88 मिलियन टन माल की लोडिंग करने की रही है। इसमें वाल्टेयर रेलमंडल का योगदान 61.13 मिलियन टन रहा है। किरंदुल-कोत्तावालसा रेललाइन इसी मंडल के अधीन आती है। इस रेललाइन की ख्याति लौह अयस्क की ढुलाई को लेकर पूरे देश मे हैं। दंतेवाड़ा के बचेली-किरंदुल स्थित एनएमडीसी लिमिटेड की लौह अयस्क खदानों से लौह अयस्क भरकर विशाखापट्टनम सहित देश के कई हिस्सों में भेजा जाता है। कोरोना संक्रमण काल में बस्तर से रिकार्ड माल ढुलाई का रेलवे की कमाई में अच्छा योगदान माना गया है।

7278.88 करोड़ की कमाई : वाल्टेयर रेललाइन से गत वित्तीय वर्ष में 61.13 मिलियन टन माल की ढुलाई से रेलवे को 7278.88 करोड़ रुपये की आय हुई है। वित्तीय वर्ष के अंतिम माह मार्च माह में ही 811.61 करोड़ की आय हुई है। अंतिम दिन 31 मार्च को 81 रैक की लोडिंंग पूरे मंडल में की गई यह भी एक रिकार्ड है। इसमें अकेले बस्तर से इस दिन 24 घंटे में 34 रैक लोड करना बताया गया है।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags