जगदलपुर। संभाग के सात जिलों के नक्सल प्रभावित इलाकों में लोक निर्माण विभाग द्वारा आरआरपी-1 (रोड रिक्वायरमेंट प्लान) एवं एलडब्ल्यूई (लेफ्ट विंग एक्सट्रीमिज्म) योजना में 16.64 अरब रूपए की लागत से 947.30 किमी के सड़कों का निर्माण प्रस्तावित है। इनमें से करीब 700 किमी सड़क का निर्माण पूर्ण हो चुका है लेकिन कोरोना काल तथा बारिश के चलते शेष 247.30 किमी का काम नहीं हो सका था। वर्तमान में दोबारा निर्माण कार्य जारी है। पीडब्ल्यूडी के चीफ इंजीनियर ने अधूरे काम जनवरी माह तक पूरा करने के निर्देश दिए हैं। संवेदनशील क्षेत्रों में केंद्रीय अर्धसैन्य बलों के द्वारा निर्माण कार्य के दौरान सुरक्षा कवर किया जा रहा है।

ज्ञात हो कि संभाग के सर्वाधिक अति संवेदनशील इलाकों में लोक निर्माण विभाग ने आरआरपी-1 एवं एलडब्ल्यूई योजना के तहत वर्ष 2019 से नई सड़कों का निर्माण कार्य शुरू किया था लेकिन बीते वर्ष कोविड काल में बाजार बंद होने से काम बंद हो गया था। इसके बाद बारिश का सीजन आ गया। फलस्वरूप काम बंद हो जाने से ठेकेदारों को परेशान होना पड़ा था। वहीं रोजगार न मिलने से श्रमिकों की मुसीबत बढ़ गई थी।

योजना के तहत सात जिलों के भीतरस्थ मार्गों में 16.64 अरब रूपए की लागत से 947.30 किमी दूरी की 24 सड़कों का निर्माण कार्य चल रहा है। शेष बचे निर्माण कार्य दोबारा शुरू करवा दिए गए हैं। मुख्य अभियंता पीडब्ल्यूडी के द्वारा अधिकारियों को जनवरी माह तक अधूरा काम पूरा करवाने की हिदायत दी गई है।

इन मार्गों पर बन रही सड़क

जिला बीजापुर- आवापल्ली, जगरगुंडा, नेसलनार, कोडोली, गंगालूर, बीजापुर, मोदकपाल, तारलागुड़ा, नैमेड़ कुटरू मार्ग। जिला सुकमा- दोरनापाल, जगरगुंडा, चिंतलनार, मरईगुड़ा, इंजेरम, भेज्जी, चिंतागुफा, कोंटा, गोरलापल्ली, किस्टाराम, पेदागुड़म, गोलापल्ली, पेदागुड़म। जिला दंतेवाड़ा- बारसूर, गीदम, जगरगुंडा, दंतेवाड़ा, कटेकल्याण, पल्ली, बारसूर, नकुलनार, पालनार, समेली मार्ग। जिला नारायणपुर- नारायणपुर, पल्ली, छोटे डोंगर, ओरछा, नारायणपुर, सोनपुर, मरोड़ा। जिला कांकेर- अंतागढ़, ईरागांव, ईरागांव, बेड़मा, भानुप्रतापपुर, पंखाजूर, बांदे, पीवी 79 छोटे बेटिया, तारावेली, कोयलीबेड़ा, परतापुर, कलगांव, कोयलीबेड़ा।

जल्द पूरा कराने के निर्देश

बारिश के बाद एलडब्ल्यूई ओर आरआरपी 01 के तहत अधूरे सड़कों का निर्माण जल्द पूरा कराने के निर्देश कार्यपालन अभियंताओं व ठेकेदारों को दिए गए हैं।

जीआर रावटे, सीई पीडब्ल्यूडी

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local