जगदलपुर। कलेक्टर रजत बंसल का स्थानांतरण बलौदाबाजार होने पर शुक्रवार शाम को कलेक्टोरेट में जिला प्रशासन के अधिकारी-कर्मचारियों द्वारा विदाई दी गई। इस मौके पर कलेक्टर बंसल और उनके सहयोगी रहे जिला प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारियों ने अपने अनुभव साझा किए। बंसल ने बंसल ने कहा कि जिला कार्यालय के कर्मचारियों द्वारा अपने कार्य के प्रति पूरी जिम्मेदारी के साथ कार्य करने के कारण यहां रचनात्मक कार्यों के लिए उन्हें पूरा अवसर मिला।

कर्मचारियों की कार्यकुशलता व अच्छे व्यवहार के कारण वे यहां आने के कुछ ही दिनों में प्रशासनिक कामकाज को लेकर आश्वस्त हो गए थे कि कार्यालय में आने वाले किसी भी ग्रामीण के कार्य में कोई रुकावट नहीं आएगी। उन्होंने बस्तर को ऐतिहासिक, सांस्कृतिक, प्राकृतिक रूप से अत्यंत समृद्ध बताते हुए कहा कि बस्तर की इस समृद्धि से पूरे विश्व को अवगत कराते हुए इसे जनजातीय राजधानी के रूप में विकसित किया जा सकता है। दुनिया के धनी लोग जिस जीवनशैली को अपना रहे हैं, उसी जीवन शैली के साथ यहां के आदिवासी युगों से निवास कर रहे हैं। बंसल ने यहां की भाषा बोली की विविधता और प्रकृति से जुड़कर रहने की कला के संरक्षण पर जोर दिया।

आवागमन के साधन बढ़ रहे जिसका फायदा मिलेगा

रजत बंसल ने कहा कि बस्तर अब सड़क रेल और वायुमार्ग से जुड़ रहा है। इससे यहां विकास कार्यों में तेजी आएगी। युवाओं को बड़े पदों पर काम के लिए तैयार करने उन्हें खेलकूद के क्षेत्र में आगे ले जाने और कुशल उद्यमी के रुप में तैयार करने के लिए पूरी लगन के साथ करने की आवश्यकता है। उन्होंने लोगों का विश्वास प्रशासन के प्रति बढ़ाने के साथ ही विकास कार्यों में लोगों की भागीदारी बढ़ाने पर भी जोर दिया। उन्होंने सभी कर्मचारियों से आम जनता के साथ मधुर व्यवहार बनाए रखने तथा निर्धनों के कार्यों को प्राथमिकता के साथ पूरा करने की अपील भी इस अवसर पर की।

नेतृत्व तय करता है दिशा और दशा

इस अवसर पर जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी रोहित व्यास द्वारा श्री बंसल के व्यक्तित्व पर प्रकाश डालते हुए कहा कि जो व्यक्ति सदैव सत्य क्षमा शील आदि गुणों से युक्त होते हैं वे सभी क्षेत्रों में सफल होते हैं। रजत बंसल की सफलता इसका एक उदाहरण है। नेतृत्व काम की दिशा और दशा तय करता है। संयुक्त कलेक्टर दिनेश नाग ने बंसल के नेतृत्व में किए गए विकास कार्यों पर प्रकाश डाला। समारोह में कोष लेखा एवं पेंशन के संयुक्त संचालक धीरज नशीने, तोकापाल अनुविभागीय दण्डाधिकारी आस्था राजपूत, जगदलपुर एसडीएम ओमप्रकाश वर्मा सहित कलेक्टोरेट के कर्मचारियों ने भी इस अवसर पर कलेक्टर के साथ किए गए कार्य के दौरान अपने अनुभवों को साझा किया और उनके उज्जवल भविष्य की कामना की।

-----------------

बस्तर को लेकर भ्रांतियां फैलाई गई

जगदलपुर। शिक्षा विभाग के द्वारा शुक्रवार को कलेक्टर रजत बंसल को समारोह आयोजित कर विदाई दी गई। समारोह को संबोधित करते बंसल ने कहा कि बस्तर को लेकर देश दुनिया में काफी भ्रांतियां फैलाई गई। बस्तर प्रकृति का उपहार है। शासकीय सेवा काल में यदि किसी को यहां काम करने का अवसर नहीं मिला तो यह उसका दुर्भाग्य है। बस्तर में काम करने से जो संतुष्टि मिली वह हमेशा स्मरण में रहेगी।

बंसल ने कहा कि बस्तर के प्रति लोगों में जो भ्रांतियां मैंने सुन रखी थी यहां आकर सब कुछ उसके विपरीत था। कोरोना काल के दौरान शिक्षा के क्षेत्र में जो नवाचारी का कार्य बस्तर जिले में किया गया उसकी प्रशंसा पूरे राज्य ही नहीं देश स्तर पर भी हुई जिसके लिए शिक्षा विभाग और उसकी पूरी टीम बधाई के पात्र हैं उन्होंने अपने उद्बोधन में आमचो बस्तर रेडियो के कार्यों की भी प्रशंसा की।

बंसल ने कहा कि यहां के आदिवासी बड़े ही शांत और सरल स्वभाव के हैं। सामाजिक लोगों की भावना के अनुरूप मैंने बस्तर की संस्कृति और सभ्यता को बचाए रखने का एक छोटा सा प्रयास बादल संस्था की स्थापना के रूप में किया। जनजातीय समाज के लोगों के बीच में हम अपनी पुरानी संस्कृति को आगे कैसे बढ़ा इसका एक जीवंत उदाहरण बादल है।

बस्तर के मेरा जो लगाव है वह हमेशा बना रहेगा। बस्तर में मैं अपने आपको रचा बसा महसूस कर रहा था। उन्होंने अपने कार्यकाल में किए गए कार्यों का जिक्र करते हुए कहा कि कार्य सभी के सहयोग से ही पूरा होता है और बस्तर के लोगों ने इन बातों को चरितार्थ करके दिखाया है कार्यक्रम में जिला पंचायत सीईओ रोहित व्यास, सहायक आयुक्त विवेक दलेला, नगर निगम आयुक्त निदेश नाग, जिला शिक्षा अधिकारी भारती प्रधान, जिला मिशन समन्वयक अखिलेश मिश्रा आदि कई वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे।

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close