जगदलपुर। यूक्रेन व रूस के बीच चल रहे युद्ध के चलते बने वैश्विक स्थिति से जहां डीजल का दाम आसमान छू रहा है। वहीं बीते सात माह में सीमेंट, सरिया व अन्य निर्माण सामग्री महंगी हो गई है। ऐसे में ठेकेदारों के लिए पुराने एसओआर शेड़यूल ऑफ रेट में काम लेना संभव नहीं है। ठेकेदारों के संगठनों की मानें तो बस्तर में करीब एक हजार करोड़ रुपये का निर्माण कार्य प्रभावित हो रहा है। प्रदेश के संगठनों के आव्हान पर सरकार से बातचीत सफल नहीं होने के बाद स्थानीय बिल्डर्स एसोसिएशन आफ इंडिया सेंटर बस्तर, छत्तीसगढ़ कांटेक्टर एसोसिएशन व पीएचई कांट्रेक्टर एसोसिएशन ने सरकारी टेंडर के बहिष्कार करने का निर्णय लिया है।

बता दें कि पिछले एक सप्ताह से कांट्रेक्टर एसोसिएशन अपनी मांगों को लेकर संघर्षरत है। पूर्व में राजधानी में सीएम से कांट्रेक्टर एसोसिएशन के प्रतिनिधिमंडल ने महंगे मटेरियल के दामों में हुई 50 से 60 फीसद बढ़ोतरी के कारण निर्माण कार्य करने में असमर्थता जताई थी। साथ ही निर्माण एजेंसियों के प्रमुख अभियंताओं से भी मुलाकात कर चर्चा की गई थी। बिल्डर्स एसोसिएशन आफ इंडिया सेंटर बस्तर, छत्तीसगढ़ कांटेक्टर एसोसिएशन व पीएचई कांट्रेक्टर एसोसिएशन के जिला पदाधिकारियों ने बताया कि डीजल समेत सरिया, सीमेंट आदि निर्माण सामग्रियों की कीमतों में बीते छह माह में इतना अधिक इजाफा हुआ है कि कांट्रेक्टर बाजार और बैंकों से उधार लेकर पूरी तरह से कर्ज में डूबते जा रहे हैं। ऐसी स्थिति में निर्माण कार्यों को ना तो पूरा कराने की स्थिति में है और ना ही अब किसी तरह के टेंडर प्रक्रिया में हिस्सा लेने के। ऐसे में ठेकेदारों से सरकार से मांग है कि गुजरात, महाराष्ट्र आदि अन्य राज्यों के तरह ठेकेदारों को राहत प्रदान की जाए ताकि वे काम करने की स्थिति में आ सकें।

बताया गया कि शासन के समस्त निर्माण विभागों के शेड्यूल आफ रेट एसओआर से बाजार मूल्य में 50 से 60 फीसद का अंतर आया है। ऐसे में ठेकेदार निर्माण कार्य को गति नहीं दे पा रहे हैं। जिले में पीएचई, लोक निर्माण विभाग, सेतु संभाग, नगर निगम समेत अन्य निमार्ण विभागों के अंतर्गत करीब एक हजार करोड़ रुपये का निर्माण का कार्य प्रभावित हो रहा है। इसमें सड़क समेत सरकारी इमारतें, पुल-पुलिए और अन्य निर्माण कार्य शामिल हैं। जानकारों के अनुसार अगर सरकार ने बीच का रास्ता नहीं निकाला तो भविष्य में सरकार के विकास कार्यो की रफ्तार में ब्रेक लग सकती है।

बाक्स

निर्माण सामग्री की बढ़ी कीमत छह माह में

सामग्री पहले अभी

सरिया 4400 रुपये प्रति क्विंटल 7400 रुपये

सीमेंट 250 रुपये प्रति पैकेट 330 रुपये

डीजल 85 रुपये प्रति लीटर 105 रुपये

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close