जगदलपुर। शिक्षा विभाग द्वारा संचालित स्वामी आत्मानंद उत्कृष्ट अंग्रेजी माध्यम स्कूलों की विद्यार्थियों और उनके अभिभावकों के बीच तेजी से बढ़ती लोकप्रियता को देखते हुए आदिम जाति कल्याण विभाग ने भी एकलव्य आदर्श आवासीय विद्यालयों में अंग्रेजी माध्यम से अध्यापन शुरू करने का निर्णय लिया है। एकलव्य आदर्श आवासीय विद्यालय का संचालन छत्तीसगढ़ राज्यस्तरीय आदिम जाति कल्याण, आवासीय एवं शैक्षणिक संस्थान समिति द्वारा किया जाता है। प्रदेश के 86 आदिवासी विकासखंडों में अधिकांश जगहों पर ये विद्यालय संचालित हो रहे हैं। यहां बस्तर जिले में 2005 में पहला एकलव्य आदर्श आवासीय विद्यालय बकावंड में प्रारंभ किया गया था। वर्तमान में जगदलपुर को छोड़कर जिले के अन्य विकासखंड बकावंड, बस्तर, तोकापाल, दरभा, बास्तानार, लोहंडीगुड़ा में एक-एक एकलव्य आदर्श आवासीय विद्यालय का संचालन किया जा रहा है। यहां छठवीं से 12 वीं तक कक्षाएं संचालित हो रही हैं। वर्तमान में यहां डेढ़ हजार से अधिक विद्यार्थी अध्ययनरत हैं। इन विद्यालयों ने भी स्वामी आत्मानंद उत्कृष्ट अंग्रेजी माध्यम स्कूलों के ही समान अल्प समय में उत्कृष्ट विद्यालय के रूप में अपनी पहचान स्थापित कर ली है। यहां अभी तक हिंदी माध्यम से पढ़ाई की व्यवस्था है। आगामी शिक्षा सत्र 2022-2023 में कक्षा छठवीं अंग्रेजी माध्यम से संचालित होगी। इसका उद्देश्य धीरे-धीरे प्रति वर्ष अंग्रेजी माध्यम की कक्षाएं बढ़ाते हुए आगे के वर्षो में (सात साल में) कक्षा 12 वीं तक संपूर्ण विद्यालय को अंग्रेजी माध्यम में परिवर्तित करने का है।

हर क्षेत्र में स्वामी आत्मानंद विद्यालय की मांगः प्रदेश सरकार ने 2019-20 में स्वामी आत्मानंद अंग्रेजी माध्यम स्कूलों का संचालन प्रारंभ किया था। वर्तमान में प्रदेश में 222 आत्मानंद स्कूल का संचालन किया जा रहा है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के प्रदेशव्यापी दौरे में भी जनता की ओर से सबसे अधिक मांग इन्हीं स्कूलों की स्थापना के लिए हो रही है।

कलेक्टर व समिति अध्यक्ष

को आदेश जारी किया

एकलव्य आदर्श आवासीय विद्यालयों में कक्षा छठवीं में अंग्रेजी माध्यम से पढ़ाई शुरू कराने का निर्णय शासन की समिति ने 13 मई को रायपुर की बैठक में लिया था। निर्णय का क्रियान्वयन शुरू करने की व्यवस्था करने राज्यस्तरीय आदिम जाति कल्याण, आवासीय व शैक्षणिक संस्थान समिति रायपुर की आयुक्त शम्मी आबिदी ने 20 मई को प्रदेश के सभी कलेक्टर व समिति के अध्यक्ष को आदेश जारी कर दिया है। सहायक आयुक्त आदिम जाति कल्याण विभाग बस्तर विवेक दलेला ने नईदुनिया से चर्चा में बताया कि जल्दी की जिलास्तरीय विभागीय समिति की बैठक बुलाकर आदेश के क्रियान्वयन पर काम शुरू किया जाएगा।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close