जगदलपुर। मेडिकल कॉलेज डिमरापाल में कार्यरत चार डाक्टरों समेत स्टाफ के नौ लोग बुधवार को आरटीपीसीसीआर जांच में पाजीटिव पाए गए हैं। सभी संक्रमित चार डाक्टर और पांच नर्सों ने पहले की करोना के दोनों डोज ले चुके हैं। संक्रमितों की जानकारी मिलने के बाद प्रबंधन में हड़कंप मच गया और प्रभावित मरीजों की कांटेक्ट ट्रेसिंग समेत स्टाफ के सभी लोगों की जांच करवाई जा रही है। कोरोना पाजीटिव मरीजों को होम आइसोलेट कर दिया गया है। बताया जा रहा है कि मेकाज में कार्यरत किसी स्टाफ के परिचित के संपर्क में आने के साथ ही कुछ दिन पहले एक फेयरवेल पार्टी भी किया गया था।

मेडिकल कॉलेज में कुछ दिन पहले यहां के स्टाफ के द्वारा कालेज में एक आयोजन किया गया था। उस दौरान फेयरवेल पार्टी भी मनाया गया। इस कार्यक्रम में स्टाफ के साथ ही किसी स्टाफ के परिचित के भी इसमें शामिल होने की बात सामने आ रही है। वही कोविड प्रभारी डाक्टर नवीन दुल्हानी ने बताया कि नौ स्टाफ कोरोना पाजिटिव पाए गए हैं। उन्हें होम आइसोलेट कर दिया गया है। वहीं उनके संपर्क में आने वाले सभी का कोविड टेस्ट भी किया जा रहा है। इसके दो स्टाफ के परिजनों के भी कोविड पाजिटिव आने की सूचना मिली है। फिलहाल सभी मरीजो को ऑब्जर्वेशन पर रखा गया है।

बढ़ते संक्रमण ने बढ़ाई प्रशासन की चिंता

ज्ञात हो कि बीते दस दिन में मेकाज में कोरोना प्रभावित मरीजों की संख्या में इजाफा देखा जा रहा है जबकि इसके पहले स्थिति पूरी तरह सामान्य हो गई थी। कोविड वार्ड समेत जिले के कोविड केयर सेंटर लगभग खाली हो चुके थे। एहतियात के चलते एक दिन पहले ही कलेक्टर ने टास्क दल की मीटिंग ली थी। प्रशासन के निर्देश पर मोबाइल ट्रेसिंग दलों, सार्वजनिक स्थानों, रेलवे, बस स्टेशन व एयरपोर्ट में नियमित रूप से संदिग्ध लोगों की पहचान व जांच करने के निर्देश दिए गए हैं। जिले में अलर्ट जारी किया गया है। सीमाक्षेत्रों में भी बाहर से आने वालों पर निगाह रखने कहा गया है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local