जगदलपुर। बीजापुर जिले के मिरतुर थाना क्षेत्र के ग्राम पिनकोडा में रात को सत्संग से लौट रही एक बुजुर्ग महिला पर तीन भालुओं ने हमला कर दिया। इस बीच साथ में चल रहे नाती ने दादी को संकट में देखकर अपनी जान की परवाह ना करते हुए भालुओं से भिड़ गया। घटना में दादी व पोता दोनों गंभीर रूप से जख्मी हो गए। उन्हें जिला अस्पताल पहुंचाया गया जहां से बेहतर उपचार के लिए मेडिकल कालेज जगदलपुर (मेकाज) रेफर किया गया।

घायल महिला के स्वजनों ने बताया कि पिनकोडा निवासी बुटकी (55) अपने नाती नेहरू ओयाम (20 )व राजेश के साथ गांव से कुछ दूरी पर हो रहे सत्संग से रात को लौट रही थी। घर से करीब 500 मीटर की दूरी में स्थित पिनमेटा जंगल से तीन भालुओं ने पहले बुटकी पर हमला कर दिया। इससे उनका सिर, होंठ व जबड़ा को नोचना शुरू कर दिया।

दादी-नाती गंभीर रूप से घायल

इस दौरान नेहरू अपनी जान की परवाह ना करते हुए भालुओं से जा भिड़ा। वह पास रखे बांस के मोटे डंडे से भालुओं पर वार कर उन्हें भगाने का प्रयास करते रहा, लेकिन उस पर पर भी भालुओं ने हमला कर दिया। इससे दादी व नाती, दोनों गंभीर रूप से घायल हो गए।

दूसरे नाती ने प़ेड पर चढ़कर बचाई जान

वहीं एक अन्य नाती राजेश अपनी जान बचाने के लिए पेड़ पर चढ़ गया। घायलों की चीख-पुकार के बाद मौके पर पहुंचे ग्रामीणों ने भालुओं को खदेड़ा। बुजुर्ग महिला व उसके नाती को जिला अस्पताल ले जाया गया, जहां से मेकाज रेफर किया गया। वहीं वन विभाग द्वारा उन्हें मुआवजा देने के लिए प्रकरण बनाया जा रहा है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local