जगदलपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता व पूर्व मंत्री केदार कश्यप ने बीजापुर जिले में तीन अप्रैल को हुई नक्सली हमले की घटना को लेकर प्रदेश के गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू और बस्तर से जुड़े कैबिनेट मंत्री कवासी लखमा का बयान नहीं आने पर उन्होंने हैरानी जताई है। पूर्व मंत्री केदार कश्यप का कहना है कि नक्सल हमले में 22 जवानों की शहादत से पूरा देश शोक में डूबा है।

देश के गृह मंत्री अमित शाह ने बस्तर आकर बीजापुर के बासागुड़ा जाकर बेस कैंप में सुरक्षा बलों से मिलकर उनका हौसला बढ़ाया और आला अधिकारियों की बैठक लेकर स्थिति की समीक्षा की। वहीं, घटना के बाद प्रदेश के गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू ने बस्तर आकर स्थिति की समीक्षा करने की जरूरत नहीं समझी। वहीं, उनका कोई बयान भी सामने नहीं आया। इससे प्रदेश के गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू की नक्सल समस्या को लेकर असंवेदनशीलता प्रदर्शित होती है।

गुरुवार को भाजपा प्रदेश प्रवक्ता केदार कश्यप ने बयान जारी कर गृह मंत्री साहू को जिम्मेदारी से भागने वाला बताया और कहा कि उनका काम केवल स्थानांतरण और पदस्थापना करना भर रह गया है। बयान में केदार कश्यप ने मंत्री कवासी लखमा का बिना नाम लिए कहा कि बस्तर से जुड़े मंत्री का भी इतनी बड़ी घटना पर कोई बयान नहीं आना हैरानी की बात है। बस्तर के मंत्री हर छोटे-बड़े मामलों पर बयान देने में आगे रहते आए हैं लेकिन नक्सल मामले पर उनके द्वारा कुछ नहीं कहना आश्चर्यजनक है। वहीं सरकार के जिम्मेदार मंत्रियों की चुप्पी भी कई तरह के संदेहों को जन्म दे रही है।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags