जगदलपुर। शहरवासियों की ओर से उपयोग किए जा रहे घरेलू उपयोग के पानी से अब इंद्रावती नदी प्रदुषित नहीं होगी। शहर से लगे बालीकोंटा में करीब 58 करोड़ रुपए की लागत से सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट तैयार किया जा चुका है। इसका लोकार्पण शीघ्र ही मुख्यमंत्री भूपेश बघेल करेंगे। शुक्रवार को कलेक्टर रजत बंसल ने इस ट्रीटमेंट प्लांट का जायजा लिया। नागरिकों द्वारा उपयोग किए गए करीब 18 लाख लीटर पानी की निकासी प्रतिदिन होती है और यह उपयोग की गई पानी दलपत सागर और इंद्रावती नदी में जाकर मिल जाती थी। इस पानी में मौजूद बैक्टिरिया, टर्बिडिटी और बढ़े हुए पीएच मान के कारण यह पानी दलपत सागर और इंद्रावती नदी के पानी को प्रदुषित कर देती थी।

दलपत सागर के तीन नाले, महादेव घाट में एक नाला, केंद्र बंदीगृह के पीछे दो नाले, पावर हाऊस में एक नाला, इंटेक वैल के पास एक नाला और लक्ष्‌मी नारायण मंदिर राजा कब्रगृह के पास दो नालों से यह पानी इंद्रावती नदी और दलपत सागर के पानी में मिल जाती थी। इन दस नालों को एस साथ जोड़कर आरसीसी पाइप द्वारा बालीकोंटा सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट में मेन पंपिग स्टेशन में लाया जाएगा। मेन पंपिंग स्टेशन से पंप द्वारा प्राइमरी ट्रीटमेंट यूनिट में इस प्रदुषित पानी को फिल्टर के लिए ले जाया जाएगा तथा

सिक्वेंसिंग बैंच रिएक्टर के चार बेसिन में चार भागों में इसका विभाजन होगा। यह कार्य कुल तीन घंटे की प्रक्रिया में होगा। 90 मिनट एयर ब्लोवर के माध्मय से वायु मिश्रण किया जाएगा। 30 मिनट सेटलमेंट के लिए रोका जाएगा तथा 60 मिनट के लिए मड सेटल होगा तथा 60 मिनट डिसेंटर मशीन के माध्यम से शुद्ध पानी को क्लोरीन टैंक में ले जाया जाएगा। क्लोरीन टैंक में क्लोरीन गैस मिलाकर कीटाणुओं को खत्म करने के बाद शुद्ध पानी को इंद्रावती नदी में छोड़ दिया जाएगा और शुद्ध पानी छोड़ने के बाद बचा हुआ द्रव कीचड़ पाइप लाइन द्वारा आपकेंद्रित्र मशीन में लाया जाएगा।

आपकेंद्रित्र मशीन द्रव कीचड़ को ठोस कर देगा, जिसका उपयोग कृषि और अन्य कार्यों में किया जा सकेगा। अमृत योजना के तहत निर्मित इस सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट से प्रतिदिन 25 लाख लीटर पानी को साफ किया जा सकता है। शुद्धिकरण के बाद इस पानी को वापस इंद्रावती नदी में छोड़ने पर नदी के जलस्तर में आ रही कमी की समस्या से भी निजात मिलेगी।

शहर में संचालित विकास कार्यों का अवलोकन

कलेक्टर बंसल ने शहर में चल रहे अन्य विकास कार्यों का भी अवलोकन किया, जिसमें इंदिरा प्रियदर्शिनी स्टेडियम, धरमपुरा स्थित क्रीड़ा परिसर, सिरहासार चौक स्थित टाउन क्लब का जीर्णोद्धार, दलपत सागर के निकट स्थित कृष्ण मंदिर चौक का सुंदरीकरण कार्य आदि शामिल हैं। इस दौरान कलेक्टर ने सभी कार्यों को शीघ्र पूर्ण करने कहा। इस अवसर पर जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी रोहित व्यास, नगर निगम आयुक्त प्रेम पटेल, अनुविभागीय दंडाधिकारी दिनेश नाग, लोक निर्माण विभाग के कार्यपालन अभियंता राजीव बतरा सहित संबंधित विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local