जगदलपुर। कई दिनों के इंतजार के बाद बस्तर जिले में कोरोना से बचाव के लिए टीके की खेप मिली लेकिन सर्वर ने टीकाकरण के लिए पहुंचे लोगों को निराश कर दिया। सुबह करीब 12 बजे से अचानक सर्वर फेल हो गया और फिर यह स्थिति दोपहर बाद तीन बजे तक बनी रही। इसके कारण तीन घंटे तक टीकाकरण कार्य थमा रहा।

जिला टीकाकरण अधिकारी डा सी मैत्री ने बताया कि सर्वर फेल की सूचना रायपुर मुख्यालय को देने पर बताया गया कि सर्वर में गड़बड़ी दिल्ली से हुई थी, जिसे बाद में सुधार लिया गया। जिले को एक दिन पहले ही कोविशील्ड टीका की 11 हजार डोज मिली थी। टीके की खेप आने के बाद शुक्रवार को जिले में 44 टीकाकरण केंद्र बनाए गए थे। हर केंद्र में सौ टीका लगाने का लक्ष्‌य तय किया गया था। सुबह टीकाकरण की धीमी शुरुआत हुई और जब तक टीकाकरण कार्य जोर पकड़ता सर्वर ने धोखा दे दिया।

नईदुनिया ने शहर से सटे ग्रामीण क्षेत्र के कुुछ टीकाकरण केंद्रों का जायजा लिया तो पाया कि सर्वर फेल होने से टीकाकरण कार्य रोकने के कारण लोग अपने घरों को लौटने लगे थे। ग्राम पंचायत घाटपदमूर के समीप ग्राम डुरकीगुड़ा स्थित सामुदायिक भवन के टीकाकरण केंद्र में दोपहर 12 बजे तक 19 लोगों को, ग्राम बालीकोंटा में मिडिल स्कूल स्थित टीकाकरण केंद्र में 11 और ग्राम कालीपुर में प्राथमिक शाला स्थित टीकाकरण केंद्र में 12 लोगों को ही टीका लगाया जा सका था।

बालीकोंटा के पंचायत सचिव संजय जोशी ने बताया कि सर्वर फेल होने से दोपहर में तीन घंटे तक टीकाकरण प्रभावित रहा लेकिन शाम को सर्वर ठीक हो गया और इसके बाद टीकाकरण कार्य सुचारू रूप से चला। उन्होंने कहा कि इन दिनों खेती किसानी का काम चल रहा है। लोग सुबह से खेत में काम पर चले जाते हैं और दोपहर में लौटते हैं। यही वह समय होता है जब टीकाकरण के लिए ज्यादा संख्या में लोग केंद्रों में पहुंचते है। एक दो घंटे बाद दोबारा खेत चले जाते हैं। यही कारण है कि दोपहर में सर्वर फेल होने से कई लोग निराश होकर घरों को लौट गए थे।

कर्मचारियों की चूक ने खड़ी की परेशानी

टीकाकरण टीम में ड्यूटी करने वाले कुछ कर्मचारियों की चूक ने टीका लगवाने वाले लोगों के लिए परेशानी पैदा कर दी है। टीकाकरण के लिए पंजीयन के दौरान किसी का मोबाइल नंबर गलत दर्ज कर लिया गया तो किसी को को-वैक्सीन का टीका लगाकर पर्ची में कोविशील्ड लिख दिया गया। यही छोटी-छोटी चूक अब दूसरा डोज लगवाने के लिए केंद्रों में पहुंच रहे लोगों को परेशान कर रही है। रेलवे कालोनी निवासी सविता नायक ने 28 अप्रैल को नर्सिंग कालेज महारानी अस्पताल परिसर में टीका का पहला डोज लगवाया।

पंजीयन के दौरान उनका मोबाइल नंबर में एक अंक आगे पीछे लिख दिया गया। इसके कारण मोबाइल पर टीका लगाने का मैसेज नहीं आया, अब जबकि दूसरा डोज लगाने का समय आ गया है सविता नायक को टीका लगवाने के लिए भटकना पड़ रहा है। ऐसे कई मामले प्रकाश में आ रहे हैं। लोग सामने आकर शिकायत दर्ज करा रहे हैं लेकिन कोई सुनवाई नहीं हो पा रही है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local