जगदलपुर। मालगांव में शुक्रवार को मुरूम खदान धसकने से हुई 6 ग्रामीणों के अंतिम संस्कार पर विवाद हो गया। जहां 4 परिवार के 5 शवों का अंतिम संस्कार एक साथ किया गया, वहीं धर्मांतरित ईसाई परिवार के एक शव के लिए जमीन देने से ग्रामीणों ने इंकार कर दिया। ग्रामीणों की मांग है कि अंतिम संस्कार हिंदू रीति रिवाज से की जाए तभी जमीन दिया जाएगा। जिसके बाद परिवार अभी तक एक मजदूर के शव का अंतिम संस्कार नहीं कर पाया है। वहीं विवाद को बढ़ता देख समझाइश देने पुलीस टीम पहुंची। लेकिन ग्रामीणों ने को चेतावनी दे डाली कि अगर ईसाई रीति रिवाज से अंतिम संस्कार किया तो गांव में बना अवैध चर्च तोड़ दिया जाएगा।

गौरतलब है कि बीते शुक्रवार को बस्तर जिले के नगरनार थाना क्षेत्र के मालगांव में खदान धंसने से उसके नीचे दबकर छह ग्रामीणों की मौत हो गई। ग्रामीण गांव में स्थित मुरूम खदान के नीचे छुई मिट्टी (सफेद चूना मिट्टी) की तलाश कर रहे थे। इसके लिए उन्होंने खदान को गहराई तक खोद दिया। अचानक खदान धंस गई। मुरूम के नीचे दबने से पांच लोगों की मौत मौके पर ही हो गई। एक महिला की मौत अस्पताल ले जाते वक्त रास्ते में हुई। घटना में गांव की पांच महिलाओं तथा एक पुरूष की मौत हुई। वहीं तीन घायलों को अस्पताल में दाखिल किया गया है।

दरअसल, गांव की मुरुम खदान से छुई मिट्टी निकली थी। इसकी जानकारी मिलने के बाद गांव के कुछ लोग दो दिन से वहां छुई निकालने का काम कर रहे थे। नीचे से खोदाई करने से वहां सुरंग जैसा आकार बन चुका था। ग्रामीण नीचे जाकर खोदाई करते हुए आगे बढ़ रहे थे तथी उनके ऊपर मुरुम का बड़ा हिस्सा गिर गया और दस ग्रामीण दब गए। इसकी सूचना पाकर नगरनार थाना पुलिस व प्रशासन हरकत में आए। राज्य आपदा प्रतिक्रिया बल व पुलिस के सौ से अधिक जवानों ने करीब दो घंटे तक बचाव अभियान चलाया। ग्रामीणों को जेसीबी की मदद से बाहर निकाला गया।

मृतकों के नाम: दशमती पत्नी दिलेश्वर (40), कमली पत्नी बंशीधर (30), शांति पत्नी हरी (42), कुमारी पत्नी ईश्वर(25), सैयतो पत्नी कमलसाय (30), रामेश्वर बघेल पुत्र तुलसीराम (48)।

घायल: मनमती पत्नी रामेश्वर (46), पूर्णिमा पुत्री दिलेश्वर (12), लखमी (30)।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने जताई संवेदना

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने संवेदना जताते हुए मृतकों के परिवार को चार-चार लाख रुपये सहायता राशि देने की घोषणा की है। घायल ग्रामीणों को निश्शुल्क उपचार के साथ बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं देने को कहा है।

Posted By: Abhishek Rai

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close