जगदलपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

कला एवं साहित्य संस्था प्रतिबिंब ने पेड़ों को जीवन का आधार बताते लोगों से पेड़ों को बचाने और सघन पौधरोपण करने का आव्हान किया है। रविवार को शहर के समीप मारेंगा स्थित माध्यमिक शाला में आयोजित समारोह में स्कूल परिसर में पौधरोपण के बाद संस्था के पदाधिकारी स्कूली बच्चों और ग्रामीणों को संबोधित करते पर्यावरण की खराब होती स्थिति पर चिंता जाहिर की। पर्यावरण की सुरक्षा व जागरूकता लाने के लिये प्रतिबिंब कला परिषद जगदलपुर द्वारा वृक्षारोपण कार्यक्रम आयोजित किया गया था। इस मौके पर विद्यालय के प्रतिभावान छात्र छात्राओं सोनाली, नैना, किशोर, तुलेश, सनी, शिवानी अनामिका, शिया और सुमित्रा को आकर्षक पुरस्कारों और मोमेंटो तथा पेन भेंटकर सम्मानित किया गया। ग्राम बड़े मारेंगा के विकास में विशेष योगदान के लिए सरपंच सुनील बघेल को शॉल व श्रीफल द्वारा सम्मानित किया गया। इस मौके पर राजबहादुर सिंह राणा ने कहा कि ग्रामीण संस्कृति में पेड़ों को पूजा जाता है जो प्रत्यक्ष करता है कि वृक्ष हमारे लिये कितने आवश्यक हैं। निर्मल सिंह राजपूत ने कहा पौधे लगा कर उसके वृक्ष बनने तक रक्षा करने का संकल्प हम सभी को लेना होगा। तभी हम प्रकृति को सुरक्षित रखने में योगदान कर सकते हैं।

सामूहिक जिम्मेदारी से सफलता जल्दी मिलती है

वरिष्ठ रंगकर्मी जीएस मनमोहनथ ने कहा कि कोई भी कार्य सामूहिक योगदान से आसानी से सफल हो जाता है। सरपंच सुनील बघेल ने हल्बी बोली में अपने संबोधन में कहा कि पेड़ यदि पूजे जाते हैं तो हमें जीने का आधार भी उन्हीं से मिलता है। पूर्णिमा सरोज ने कहा कि वृक्ष हमारे जीवन का आधार है जो जीवन की सभी आवश्यकताओं को पूरी करने में समर्थ होता है। अतः वृक्षों को कटने से बचायें और अधिक से अधिक वृक्ष लगाएं। समारोह को कई अन्य वक्ताओं ने भी संबोधित किया। इस मौके पर अनूप कुर्रे, भारती जेना, शैलेंद्र पांडे, राजेश श्रीवास्तव, अजय श्रीवास्तव, प्रधान पाठक श्रीमती तारुणी ठाकुर, मिशा शर्मा, हेमलता, तुलावती पोयाम, चमेली कुर्रे, शशांक शेंडे, बसंत चौहान आदि कई प्रमुख लोग मौजूद थे।