जगदलपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

गणेशबहार नाला में निर्माणाधीन पुल तीन साल बाद भी पूर्ण नहीं हो पाया है। इसके चलते मंगड़ूकचोरा और हल्बाकचोरा के ग्रामीणों को तीन किमी के बदले आठ किमी घूमकर आना- जाना पड़ रहा है। निर्माण में बरती जा रही उदासीनता के चलते ग्रामीणों में काफी नाराजगी देखी जा रही है। किशन ढाबा के पास नेशनल हाइवे से मंगड़ूकचोरा और हल्बाकचोरा के लिए पुराना पहुंच मार्ग है। इस मार्ग पर गणेशबहार पर एक रपटा था जिसे तोड़ कर सेतु प्रभाग, लोक निर्माण विभाग उच्च स्तरीय पुल बनवा रहा है। इस पुल का निर्माण वर्ष 2015-16 में प्रारंभ हुआ था परन्तु संबंधित ठेकेदार की उदासीनता के चलते यह पुल तीन साल बाद भी पूरा नहीं हो पाया है। अब इस पुल को बनाने विभाग ने दूसरे ठेकेदार को काम सौंपा है। इधर मार्ग अवरूद्ध होने के कारण मंगड़ूकचोरा और हल्बाकचोरा के ग्रामीणों को जगदलपुर से आड़ावाल, कुरंदी चौक होकर कुल आठ किमी लंबी दूरी तय कर बस्ती पहुंचना पड़ रहा है, जबकि पुराने मार्ग से इन बस्तियों की दूरी लगभग तीन किमी है। मनोज भारती, बलिराम भास्कर और नेतराम बघेल बताते हैं कि इस संबंध में जनपद अध्यक्ष पदलाम नाग से लेकर पीडब्ल्यूडी के मुख्य अभियंता तक से शिकायत कर चुके हैं परन्तु पुल बनाने के कार्य में तेजी नहीं आई है। इसके चलते ग्रामीण अनेक परेशानी झेल रहे हैं।

Posted By: Nai Dunia News Network