जगदलपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

चित्रकोट विधानसभा उपचुनाव के लिए सोमवार को भारी सुरक्षा के बीच मतदान होगा। संवेदनशील इलाकों में पुलिस ने चार दिन पहले ही डेरा डाल दिया है। वहीं केंद्रीय अर्धसैन्य बल समेत सात हजार से अधिक सुरक्षा कर्मियों के तैनाती के दौरान चुनाव संपन्न करवाया जाएगा। सरकार ने किसी भी मतदान केंद्र पर हमले या उपद्रव करने वाले तत्वों को देखते ही गोली मारने के निर्देश दिए हैं। भीतरी इलाकों में पुलिस सर्च आपरेशन चला रही है। वहीं मतदान दलों की सुरक्षा के लिए भी एक्सरसाइज की गई है। सुरक्षा के लिहाज से प्रशासन ने पांच संवेदनशील केंद्रों को अन्यत्र शिफ्ट करवाए हैं।

चित्रकोट विधान सभा क्षेत्र अंतर्गत कुछ क्षेत्र सुकमा, दंतेवाड़ा व कोंडागांव ब्लाक के नक्सल प्रभावित इलाके माने जाते हैं। 229 मतदान केंद्रो में सुरक्षा के चाक-चौबंद इंतजाम किए गए हैं। सर्च आपरेशन में डीआरजी के अलावा सीएएफ व सीआरपीएफ के करीब सात हजार जवान तैनात किए गए हैं। मतदान दलों की सुरक्षा की कमान भी डीआरजी के जवान संभालेंगे। साथ ही दंतेवाड़ा, कोंडागांव व नारायणपुर से भी अतिरिक्त जवानों को बुलवाया जा रहा है। चुनाव के दौरान किसी भी नक्सल हिंसा से निपटने के थाना बलों को सतर्क रहने की हिदायत दी गई है। वहीं निगरानी दलों के द्वारा एनएच समेत अन्य जगहों पर मोबाइल चेकपोस्ट लगाकर आने-जाने वाली वाहनों की सघन जांच की जा रही है। बता दें कि चित्रकोट विधानसभा के कुल 229 केंद्रों में 70 अतिसंवेदनशील व 93 केंद्र संवेदनशील हैं।

Posted By: Nai Dunia News Network