जगदलपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

नगरनार स्टील प्लांट के लिए जमीन देने वाले कुछ किसानों की नौकरी के लिए नामिनी बदलने की मांग पर एनएमडीसी ने कार्रवाई शुरू कर दी है। इधर मांग पर दबाव बनाने किसान भी सामने आ गए हैं। नामिनी बदलने की मांग 30 किसानों ने की है और इन्होंने एनएमडीसी स्टील प्लांट प्रबंधन को 31 जनवरी तक मांग पर निर्णय नहीं होने पर तीन फरवरी से हड़ताल पर जाने की घोषणा कर रखी है। इस बीच किसानों की मांग पर एनएमडीसी स्टील लिमिटेड की हाइपॉवर कमेटी ने विचार शुरू कर दिया है।

22 जनवरी को संयुक्त महाप्रबंधक कार्मिक जी प्रियदर्शिनी की अध्यक्षता ने कमेटी की एक बैठक हो चुकी है। कमेटी मामले पर नियमानुसार कार्रवाई कर प्रस्ताव अंतिम फैसले के लिए कंपनी मुख्यालय हैदराबाद भेजेगा। इस बीच हाइपॉवर कमेटी की बैठक होने की खबर सार्वजनिक होने के बाद नामिनी बदलने की मांग कर रहे किसानों ने शुक्रवार को नगरनार बाजार स्थल में बैठक कर दोहराया कि 31 जनवरी तक नामिनी बदलने की अनुमति नहीं मिलने पर वे लोग निर्धारित तिथि को हड़ताल पर चले जाएंगे।

नईदुनिया ने कमेटी की बैठक की खबर सगे संबंधियों को नौकरी पर हाइपॉवर कमेटी करेगी फैसला शीर्षक से 23 जनवरी को प्रमुखता से प्रकाशित की थी। ज्ञात हो कि साल 2010 में स्टील प्लांट के लिए जमीन देने वाले 1154 खातेदारों के परिवार के लगभग 800 लोगों को मई 2018 में नौकरी देने की शुरूआत हुई थी। अधिकांश नौकरी ज्वाइन भी कर चुके हैं। करीब 30 किसान ऐसे हैं जो नौकरी नहीं करना चाहते और नौकरी के लिए नामिनी बदलना चाह रहे हैं। इनकी मांग के समर्थन में सांसद, विधायक के साथ जिला प्रशासन भी है। किसान नेता राजाराम यादव ने बताया कि नामिनी बदलने की मांग पर निर्णय पिछले सात-आठ सालों से लटका है। इस कारण नौकरी की उम्र बीतती जा रही है। इस बात को ध्यान में रखकर जल्दी से जल्दी फैसला किया जाना चाहिए।

Posted By: Nai Dunia News Network

fantasy cricket
fantasy cricket