Jagdalpur News : जगदलपुर। झीरम घाटी नक्सली हमले के सात साल पूरे हो चुके हैं। बस्तर के पूर्व आईजी विवेकानंद सिन्हा के नेतृत्व में मामले की जांच भी चल रही है। इसी बीच इस हमले में शहीद हुए राजनांदगांव के पूर्व विधायक उदय मुदलियार के बेटे जितेंद्र मुदलियार ने बस्तर पुलिस में एफआईआर दर्ज करवाई है। उन्होंने पिता की हत्या का आरोप लगाते हुए यह एफआईआर दर्ज कराई है। जितेंद्र मुदलियार ने बस्तर पुलिस अधीक्षक को ज्ञापन सौंपते हुए मामले की जांच कर जल्द से जल्द पूरी कराने और जरूरी कार्रवाई करने की मांग की है। उन्होंने एफआईआर में पिता की हत्या की साजिश गढ़ने को लेकर यह शिकायत दर्ज कराई है।

झीरम घाटी हमले में राजनांदगांव के पूर्व विधायक उदय मुदलियार भी मारे गए थे। 25 मई 2013 को झीरम घाटी में नक्सलियों ने कांग्रेस नेताओं और उनकी सुरक्षा में तैनात जवानों के काफिले पर हमला कर उन्हें मौत के घाट उतार दिया था।

इस घटना में बस्तर टाइगर महेंद्र कर्मा, तत्कालीन पीसीसी अध्यक्ष नंदकुमार पटेल, उनके बेटे दिनेश पटेल, विद्याचरण शुक्ल सहित छत्तीसगढ़ कांग्रेस के कई वरिष्ठ नेताओं को अपनी जान गंवानी पड़ी थी। इस नक्सली हमले में 32 लोगों की जान गई थी।

हमले के बाद एनआईए की जांच में कुछ नक्सलियों के नाम भी सामने आए थे, जिन पर इनाम की घोषणा की गई थी। मामले को लेकर आज भी जांच जारी है। कांग्रेस इस घटना को सुपारी किलिंग की घटना मानती आ रही है और शुरूआत से ही यह कहा जा रहा है कि हमले को अंजाम देने से पहले बडी साजिश रची गई थी, लेकिन आज भी इस साजिश पर से पर्दा नहीं उठ पाया है।

Posted By: Himanshu Sharma

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना