फोटो- 08 जग 16- मुख्यमंत्री के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से चर्चा के लिए जुटे अधिकारी।

जगदलपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने मलेरिया मुक्त बस्तर अभियान को मिली सफलता से प्रेरणा लेकर बस्तर जिला प्रशासन एवं समाज के सभी वर्गो से कोरोना मुक्त बस्तर अभियान चलाने का आव्हान किया है। उन्होंने कहा कि सभी सरकारी विभाग मिलकर संयुक्त रूप से प्रयास करेंगे तो इसमें जरूर सफलता मिलेगी। मुख्यमंत्री ने बस्तर संभाग में कोरोना वायरस के नियंत्रण के लिए किए गए प्रयासों की सराहना करते हुए कई दिशा निर्देश दिए। मुख्यमंत्री शनिवार को बस्तर संभाग सहित राजनांदगांव तथा कवर्धा जिले के सभी अनुविभागीय अधिकारी राजस्व, पुलिस एवं स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों की वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से वर्चुअल बैठक लेकर कोरोना संक्रमण नियंत्रण को लेकर चलाए जा रहे अभियान की समीक्षा की। उल्लेखनीय है कि मलेरिया से सर्वाधिक प्रसार और मौत के लिए देश भर में चर्चित रहे बस्तर में 2019 में मलेरिया मुक्त अभियान चलाकर इस पर काबू पा लिया गया है। उन्होंने कहा मलेरिया मुक्त अभियान शुरू होने के पहले बस्तर जिले में मलेरिया परजीवी सूचकांक एपीआई दर 8.1 थी वह इस साल मार्च अंत में घटकर केवल 0.9 रह गई है। मलेरिया मुक्त बस्तर अभियान में मिली सफलता का जिक्र करके मुख्यमंत्री ने कोरोना मुक्त बस्तर अभियान के लिए प्रेरणा दी। मुख्यमंत्री ने कहा कि शादियों के लिए दिए गए अनुमति में अधिक व्यक्तियों को शामिल न होने दिया जाए। इसके लिए एसडीएम, तहसीलदार के अलावा पुलिस विभाग के अधिकारियों एवं ग्राम स्तर पर सरपंच, सचिव, रोजगार सहायक, पटेल एवं शिक्षकों की भी निगरानी के लिए ड्यूटी लगाई जाए। बैठक में गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू, स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंह देव, राजस्व मंत्री जयसिंह अग्रवाल, मुख्य सचिव अमिताभ जैन, अपर मुख्य सचिव सुब्रत साहू भी वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से जुड़े थे। वीडियो कांफ्रेंसिंग के दौरान कलेक्टोरेट जगदलपुर के स्वान कक्ष में एसडीएम जीआर मरकाम, नगर पुलिस अधीक्षक हेमसागर सिदार, मुख़्‌य चिकित्सा अधिकारी डा डी राजन, डा सी मैत्री आदि कई अधिकारी उपस्थित थे।

पाजिटिविटी रेट दस फीसद से अधिक न हो

मुख्यमंत्री ने अधिकारियों से शादियों में निर्धारित संख्या से अधिक व्यक्तियों के शामिल होने तथा कोरोना नियंत्रण के लिए निर्धारित प्रोटोकाल का पालन न करने वालों के विरुद्ध कड़ी कारवाई करने को कहा। अधिकारियों को कोरोना संक्रमण की पाजिटिविटी रेट को कम से कम करने तथा किसी भी स्थिति में 10 प्रतिशत से अधिक न हो इसके लिए पुख्ता उपाय करने के निर्देश दिए गए। झोला छाप डाक्टरों के विरुद्ध भी कड़ी कारवाई करने कहा गया।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags