जगदलपुर। भाजयुमो की संभागीय बैठक के दौरान मंचस्थ नेता से लेकर सामने बैठक संगठन के पदाधिकारी अपने नेताओं पर ध्यान देने के बजाय अपने-अपने मोबाइल फोन पर व्यस्त रहे। जबकि भाजपा संगठन की बैठक में राष्ट्रीय पदाधिकारियों की मौजूदगी रहने पर पार्टी के पदाधिकारी हो या कार्यकर्ता मोबाइल स्वीच आफ रखते हैं ताकि चर्चा में व्यवधान न पैदा हो।

पिछले साल 31 अगस्त से दो सितंबर तक यहां आयोजित भाजपा के प्रदेश स्तरीय चिंतन शिविर में इस बात को लेकर सख्त निर्देश पहले से दे दिए गए थे। एक मई को राष्ट्रीय सह संगठन महामंत्री शिवप्रकाश ने कोंडागांव में संभागस्तरीय बैठक ली थी। उस बैठक में भी नेताओं ने मोबाइल बंद रखा था। इसके ठीक विपरीत स्थिति शनिवार को यहां भारतीय जनता युवा मोर्चा की संभागस्तरीय बैठक में नजर आई। बैठक में प्रदेश भाजपा और भाजयुमो के पदाधिकारी मौजूद थे। नेता भाषण दे रहे थे और मंच पर विराजमान कुछ नेता व सामने बैठे संभाग के विभिन्ना जिलों से आए मोर्चा के पदाधिकारी मोबाइल पर व्यस्त थे।

जिस समय मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष अमित साहू का भाषण चल रहा था उस दौरान सामने की पंक्ति पर बैठे चार-पांच पदाधिकारी मोबाइल पर बात करते रहे। वहीं कुछ मोबाइल पर चैटिंग कर समय व्यतीत करते भी दिखे। मंच पर बैठे कुछ नेता भी मोबाइल पर व्यस्त थे। मंच पर बैठे एक नेता ने मोबाइल पर व्यस्त पदाधिकारियों की तस्वीर खींच ली।

मोबाइल पर कैद

कुछ मीडियाकर्मियों ने इस नजारे को मोबाइल पर कैद कर लिया। बैठक के बाद जब भाजपा के पदाधिकारी ने मोर्चा के एक वरिष्ठ पदाधिकारी से इस बारे में चर्चा की तो उनका कहना था कि फोन पर चर्चा करना जरूरी रहा होगा इसलिए किसी को कुछ नहीं बोल सकते थे। वैसे भी कई वरिष्ठ नेता बैठक के दौरान उपस्थित पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं को मोबाइल फोन पर बतियाते देखकर काफी खिन्न थे और बैठक को हल्के में लिए जाने की शिकायत आने वाले समय में उच्च स्तर पर की जा सकती है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close