जगदलपुर। एटीएम में कैश नहीं डालकर ढाई करोड़ से अधिक रकम का गबन व धोखाधड़ी मामले के मास्टर माइंड फिरोज खान उर्फ राजा निवासी इतवारी बार को कोतवाली पुलिस सोमवार को बिलासपुर से गिरफ्तार कर यहां लाई। उसके कब्जे से तीन लाख रूपये नगद बरामद किया गया है। मामले में चार आरोपित पहले ही गिरफ्तार किए जा चुके हैं।

ज्ञात हो कि एसबीआई से सीएमएस कंपनी का एटीएम काउंटर में कैश जमा करने का अनुबंध था। कंपनी के कर्मचारी योगेश यादव, कैलाश यादव, ललित नारायण साहू एवं मूंर रा राजा के साथ मिलकर मिलकर बैंक से आहरित पूरी राशि एटीएम में जमा नहीं कर कम राशि जमा करते थे। अंतर की राशि आपस में बांटकर गबन कर लिया था। करीब ढाई करोड़ से अधिक रूपयों का इन्होंने गबन कर लिया। इन रूपयों में से अधिकतर हिस्सा आरोपित ऑनलाइन बेटिंग (सट्टा) में हार गए थे। वहीं बाकी रकम से लक्जरी कार, मोबाइल व स्मार्ट वॉच खरीदा था।

उन्होंने कुछ रसूखदार युवकों को ब्याज पर रूपये उधार भी दिया था। मामले में कंपनी के कस्टेडियन आरोपित योगेश यादव, मंजूर रजा, कैलाश यादव व ललित नारायण साहू को गिरफ्तार किया गया था। वहीं मुख्य आरोपित फिरोज खान उर्फ राजा फरार चल रहा था। उसकी पतासाजी के लिए सायबर सेल की मदद ली जा रही थी। इस बीच राजा के बिलासपुर में छिपकर रहने का सुराग पुलिस को मिला। टीआइ एमन साहू की अगुवाई में टीम गठित कर मौके पर रवाना किया गया। विशेष टीम ने छापेमारी कर राजा खान को गिरफ्तार किया।

तीन लाख बरामद

सोमवार को उसे लेकर पुलिस यहां पहुंची। पूछताछ के दौरान आरोपित ने अपना जुर्म स्वीकार किया है। उसके कब्जे से तीन लाख रूपये नगद बरामद किया गया है। राजा खान नगर पालिक निगम में सुपरवाइजर का काम करता है। वह काफी समय से अन्य आरोपितों के संपर्क में था। उसी ने गबन की राशि से अन्य आरोपितों को लग्जरी कारों की खरीदी करवाई थी। आरोपित को कोर्ट में पेश किया गया जहां से उसे जेल दाखिल किया गया।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local