जगदलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। रविवार को हुई बस्तर दशहरा समिति की बैठक में सांसद दीपक बैज को अध्यक्ष और मांझी अर्जुन कर्मा को निर्विरोध उपाध्यक्ष निर्वाचित किया गया। अब तक बस्तर सांसद ही दशहरा समिति का पदेन अध्यक्ष होते थे, वहीं उपाध्यक्ष भाजपा से जुड़े लोग होते थे। मगर इस बार सात जिलों के मांझियों ने अध्यक्ष का चुनाव किया।

बस्तर दशहरा के 610 साल के इतिहास में पहली बार किसी मांझी को समिति का उपाध्यक्ष चुना गया है। उनके खिलाफ किसी ने भी उम्मीदवारी नहीं पेश की थी। 14 सालों के बाद समिति में उपाध्यक्ष पद पर कोई गैरराजनीतिक व्यक्ति चुना गया है। बैठक में टेंपल कमेटी के सचिव व तहसीलदार एलएन धृतलहरे ने बताया कि समिति पर दस साल की 61.40 लाख रुपए की उधारी है।

इस पर मंत्री कवासी लखमा ने कहा कि सत्ता पक्ष के लोग लंबे समय तक बस्तर दशहरा समिति के पदाधिकारी रहे फिर उधारी क्यों बढ़ी? यह एक विचारणीय प्रश्न है। बस्तर दशहरा समिति की बकाया राशि और विभिन्न् जिलों में मांझी-चालकी के रिक्त पदों की नियुक्ति के संदर्भ में मुख्यमंत्री से चर्चा करेंगे।

इस मौके पर समिति ने कई अहम निर्णय लिए, जैसे दशहरा मनाने बस्तर विकास प्राधिकरण के अलावा बस्तर संभाग के जनप्रतिनिधि राशि जुटाएंगे और नगद में सामानों की खरीदी कर दशहरा मनाएंगे। नवनिर्वाचित अध्यक्ष दीपक बैज ने कहा कि आयोजन की व्यवस्था में सुधार किया जाएगा।