जगदलपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। इस माह बेमौसम बारिश के कारण बस्तर संभाग में भी सरकारी समर्थन मूल्य पर धान खरीदी प्रभावित हुई है। लगातार बदल रहे मौसम को देखते हुए धान खरीदी से जुड़े खरीदी प्रभारी व इससे जुड़े अधिकारी धान खरीदी की गति बढ़ाने के साथ ही धान को बारिश से बचाने दोहरे मोर्चे पर काम कर रहे हैं। राज्य शासन ने बारिश के कारण धान खरीदी प्रभावित होने की स्थिति को देखते हुए 31 जनवरी के बाद भी आगामी एक सप्ताह तक धान खरीदी जारी रखने का आदेश दिया है।

बस्तर संभाग में जिला सहकारी बैंक मर्यादित के द्वारा कांकेर, कोंडागांव, नारायणपुर, बस्तर, दंतेवाड़ा, सुकमा व बीजापुर जिले में धान खरीदी के लिए 329 केंद्र बनाए हैं। इन केंद्रों में हर सप्ताह शनिवार-रविवार दो दिन छोड़कर बाकी दिनों में धान खरीदी की जाती है। 18 जनवरी 2022 की स्थिति में संभाग में धान बेचने के लिए पंजीयन कराने वाले किसानों में 99 हजार 318 किसान धान नहीं बेच पाए थे। धान खरीदी भी लक्ष्‌य की तुलना में 67.52 फीसद ही हो पाई थी। अभी भी करीब 32 फीसद धान खरीदी बाकी है। बैंक द्वारा हर दिन धान खरीदी व उठाव से जुड़ी रिपोर्ट राज्य शासन को भेजी जा रही है।

बारिश से रोकनी पड़ी खरीदी

बैंक के मार्केटिंग आफिसर आरबी सिंह से चर्चा करने पर उन्होंने बताया कि बेमौसम बारिश के कारण संभाग के कुछ खरीदी केंद्रों पर कुछ दिनों के लिए धान खरीदी रोकनी पड़ी थी। धान के उठाव की रफ्तार अपेक्षा के अनुरूप नहीं होने से धान को बारिश से बचाने के लिए ज्यादा मेहनत करना पड़ा रहा है। उन्होंने बताया कि हर दिन औसतन 11 से 12 हजार मिट्रिक टन धान की खरीदी की जा रही है। इसे देखते हुए पूरी उम्मीद है कि सात फरवरी 2022 तक निर्धारित लक्ष्‌य के अनुरूप पंजीयन कराने वाले सभी किसानों का धान खरीद लिया जाएगा। इसके लिए आगामी बचे हुए दिनों के लिए कार्ययोजना तैयार कर ली गई है। इसकी जानकारी खरीदी केंद्र प्रभारियों को दे दी गई है ताकि उसी के अनुरूप धान खरीदी के लक्ष्‌य को पूरा करने कार्रवाई की जा सके।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local