जगदलपुर। Naxal investigation : छत्तीसगढ़ के बीजापुर जिले के तर्रेम में बीते शनिवार को सुरक्षा बलों और नक्सलियों के बीच हुई मुठभेड़ की जानकारी लेने के लिएगुरुवार को दिल्ली से राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआइए) के कुछ अधिकारी पहुंचे। सूत्र बता रहे हैं कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने एनआइए को मामला देखने को कहा है। हालांकि बस्तर में एनआइए की टीम पहले से है, पर शाह के दौरे के अगले ही दिन यहां दिल्ली से कुछ अधिकारी आए और मुठभेड़ की पूरी जानकारी ली है। इस वारदात में सुरक्षा बलों के 22 जवान शहीद हुए हैं।

पुलिस इस मामले में एनआइए के दखल की पुष्टि फिलहाल नहीं कर रही है। बस्तर आइजी सुंदरराज पी ने कहा कि अभी एनआइए को केस नहीं सौंपा गया है। बीजापुर पुलिस ही मामले की जांच कर रही है। तर्रेम थाने में नक्सल कमांडर माड़वी हिड़मा, सोनू, जगदीश, नागेश समेत कुछ अज्ञात नक्सलियों के विरूद्ध मामला दर्ज कर जांच की जा रही है।

आइजी के दावे के विपरीत खुफिया विभाग के उच्च पदस्थ सूत्रों ने माना कि एनआइए ने जांच शुरू कर दी है। जल्द ही केस भी एनआइए के पास चला जाएगा। एनआइए के अधिकारियों ने मुठभेड़ में शामिल और आपरेशन की रणनीति तय करने वाले अधिकारियों से बात कर पूरी जानकारी ली है। एनआइए यह देख रही है कि जब डीआरजी के जवान मोर्चे पर डटे थे तो दूसरी पार्टियों की क्या भूमिका थी, वापसी का निर्णय किसने लिया। आपरेशन की रणनीति किसने तय की थी और इसमें चूक कहां हुई, आपरेशन के दौरान सीआरपीएफ के अधिकारियों ने कितनी मदद की, हेलीकाप्टर समय पर क्यों नहीं पहुंच पाया आदि पहलुओं की पड़ताल की जा रही है।

एनआइए अपनी रिपोर्ट सीधे गृहमंत्री अमित शाह को सौंपेगी। माना जा रहा है कि इस मामले की जांच एनआइए ही करेगी। एनआइए यहां झीरम में कांग्रेस काफिले पर नक्सली हमला और दंतेवाड़ा विधायक भीमा मंडावी की हत्या के मामले की जांच पहले से कर रही है।

Posted By: Ravindra Thengdi

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags