जगदलपुर। किरंदुल-विशाखापट्नम नाइट एक्सप्रेस और हावड़ा-जगदलपुर समलेश्वरी एक्सप्रेस का परिचालन शुरू करने की बस्तरवासियों द्वारा पिछले कई माह जारी मांग रेलवे बोर्ड ने मान ली है। इन दोनों यात्री ट्रेनों का संचालन जल्दी ही शुरू होगा। गुरुवार को रेलवे बोर्ड ने बस्तर को रेल यात्री सेवा से जोड़ने वाली इन दोनों महत्वपूर्ण यात्री ट्रेनों के परिचालन को हरी झंडी दे दी। आदेश में रेलवे बोर्ड ने ट्रेनों का परिचालन कब से शुरू होगा व इसके समयसारिणी की घोषणा नहीं की है।

अगले दो चार दिनों में समयसारिणी जारी होने की उम्मीद की जा रही है। बोर्ड ने नाइट एक्सप्रेस को सप्ताह में दो दिन ओर समलेश्वरी एक्सप्रेस को चार दिन चलाने की मंजूरी दी है। नाइट एक्सप्रेस के परिचालन के लिए सप्ताह में दो दिन तय करने का फैसला इस्ट कोस्ट रेल जोन भुवनेश्वर और वाल्टेयर रेलमंडल पर छोड़ दिया है। दूसरी ओर समलेश्वरी एक्सप्रेस सप्ताह में चार दिन हावड़ा से सोमवार, बुधवार, शुक्रवार और रविवार को छूटेगी। इन दोनों यात्री ट्रेनों को भी स्पेशल एक्सप्रेस के दर्जे के साथ चलाया जाएगा।

समलेश्वरी एक्सप्रेस का हावड़ा और जगदलपुर के बीच केवल तीन स्टापेज रहेगा। ये स्टेशन टाटानगर, खड़गपुर और संबलपुर हैं। ज्ञात हो कि कोरोना की पहली लहर के दौरान 25 मार्च 2020 को देश भर में यात्री ट्रेनें रोक दी गई थी। इनमें बस्तर की भी सभी यात्री ट्रेनें शामिल थी। बाद में किरंदुल-विशाखापटमनम स्पेशल एक्सप्रेस, जगदलपुर-राउरकेला एक्सप्रेस, भुवनेश्वर-जगदलपुर हीराखंड एक्सप्रेस का संचालन शुरू किया गया लेकिन समलेश्वरी और नाइट एक्सप्रेस को परिचालन बंद ही रहा।

दीपक ने बनाया दबाव, बाफना ने लड़ी लड़ाई

नाइट एक्सप्रेस और समलेश्वरी एक्सप्रेस को शुरू करने की मांग को लेकर कांग्रेस और भाजपा दोनों राजनीतिक दलों के नेता दलगत राजनीति से परे जाकर संघर्ष कर रहे थे। इस संघर्ष में कांग्रेस नेता सांसद दीपक बैज रेल मंत्री और उच्चाधिकारियों को लगातार पत्र भेजकर दबाव बना रहे थे। दूसरी तरफ भाजपा नेता पूर्व विधायक संतोष बाफना केंद्र में भाजपा की सरकार होने के बाद भी अपनी ही सरकार पर दबाव बनाए हुए थे। उन्होंने पिछले दिनों जगदलपुर प्रवास पर आए इस्ट कोस्ट रेल जोन भुवनेश्वर के प्रधान मुख्य परिचालन प्रबंधक प्रमोद कुमार जेना का स्टेशन पहुंचकर घेराव कर दिया था।

फोन पर संपर्क

इसके बाद रेलवे बोर्ड के साथ ही जोन और मंडल स्तर पर अधिकारियों से लगातार फोन पर संपर्क बनाकर चल रहे थे। बाफना ने डीआरएम के प्रवास पर उनसे मिलकर नाइट एक्सप्रेस का संचालन शुरू नहीं करने पर आंदोलन तक की धमकी दे दी थी। ज्ञात हो कि इसके पूर्व 20 अगस्त 2021 को केंद्रीय रेलमंत्री अश्विनी वैष्णव के ओड़िशा प्रवास पर पूर्व सांसद दिनेश कश्यप, पूर्व मंत्री केदार कश्यप के साथ बाफना ने नवरंगपुर में मुलाकात करके ट्रेनों का संचालन जल्दी प्रारंभ करने का आग्रह किया था।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local