जगदलपुर। Jagdalpur News : नगरनार स्टील प्लांट को एनएमडीसी लिमिटेड से डी-मर्जर करके विनिवेशीकरण करने के फैसले के विरोध में बस्तर में बड़े स्तर पर जन आंदोलन खड़ा किया जाएगा। सड़क से लेकर पंचायत और सदन तक लड़ाई लड़ी जाएगी। एनएमडीसी की आर्थिक नाकेबंदी और आदिवासियों को मिले संवैधानिक अधिकारों को सामने रखकर केंद्र सरकार पर विनिवेशीकरण का फैसला वापस लेने के लिए दबाव डाला जाएगा।

रविवार को यहां नगरनार स्टील प्लांट के समीप ग्राम कस्तूरी में खुले मैदान में आल इंडिया एनएमडीसी वर्कर्स फेडरेशन द्वारा आयोजित सर्वदलीय, सर्व समाज और संगठनों की खुली सभा में इन बातों पर निर्णय लिया गया। सांसद दीपक बैज की अध्यक्षता में नगरनार स्टील प्लांट बचाओ संघर्ष समिति के गठन का सभा में सर्वसम्मति से फैसला लिया गया।

समिति का उपाध्यक्ष स्थानीय विधायक एवं संसदीय सचिव रेखचंद जैन को चुना गया। आगामी 30 नवंबर तक समिति की कार्यकारिणी गठित की जाएगी। जिसमें सभी वर्गो को प्रतिनिधित्व दिया जाएगा। सभा में सांसद दीपक बैज, प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष एवं विधायक मोहन मरकाम, बस्तर विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष विधायक लखेश्वर बघेल एवं विक्रम मंडावी, रेखचंद जैन, राजमन बेंजाम, चंदन कश्यप, अनूप नाग, पूर्व केंद्रीय मंत्री अरविंद नेताम सहित अनेक प्रमुख नेता, जिला पंचायत अध्यक्ष सुकमा कवासी हरीश, बस्तर जिला कांग्रेस के दोनों जिला अध्यक्ष, सीपीआई के राज्य सचिव एवं फेडरेशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष आरडीसीपी राव, जनरल सेकेटरी एसक्यू जामा, सेकटरी राजेश संधू, श्रमिक संगठनों के स्थानीय सहित विशाखापट्टनम, भिलाई, बचेली, किरंदुल आदि क्षेत्रों से भी श्रमिक संगठनों के पदाधिकारी, स्टील प्लांट प्रभावित ग्राम पंचायतों के सरपंच तथा अन्य पंचायत पदाधिकारी, छत्तीसगढ़ सर्व आदिवासी समाज, बस्तर चेंबर आफ कामर्स, बस्तर परिवहन संघ, इंद्रावती बचाओ अभियान समिति आदि कई संगठनों के प्रतिनिधि भी सभा में शामिल थे। सभा में वक्ताओं के संबोधन में केंद्र सरकार के स्टील प्लांट को लेकर किए गए फैसले को लेकर नाराजगी साफ नजर आई।

सभा में लिए गए प्रमुख फैसले

- स्टील प्लांट के विनिवेशीकरण के फैसले और इससे पड़ने वाले प्रभाव की जानकारी देने बस्तर संभाग में जनजागरण अभियान चलाया जाएगा।

- नगरनार स्टील प्लांट बचाओ, बस्तर बचाओ का नारा देते हुए संघर्ष समिति का गठन कर जनआंदोलन खड़ा किया जाएगा।

- स्टील प्लांट प्रभावित पंचायतों में विनिवेशीकरण के फैसले पर चर्चा के लिए विशेष ग्रामसभाओं का आयोजन किया जाएगा।

- बस्तर के विधायकगण विधानसभा के आगामी सत्र में नगरनार स्टील प्लांट के विनिवेशीकरण के विरोध में प्रस्ताव पेश करेंगे।

- स्टील प्लांट बचाओ संघर्ष समिति राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, राज्यपाल, इस्पात मंत्री से मुलाकात करने का प्रयास करेगी।

- बस्तर सांसद संसद के आगामी सत्र में विनिवेशीकरण के मुद्दे पर सरकार से सवाल पूछेंगे। जरूरत पड़ी तो दिल्ली जाकर समिति का प्रतिनिधिमंडल धरना देकर सरकार का ध्यान आकृष्ट करेगी।

- सभा में सरकार और एनएमडीसी पर दबाव बनाने लौह अयस्क की ढुलाई रोककर आर्थिक नाकेबंदी करने का भी प्रस्ताव सभा में पेश किया गया था।

- एनएमडीसी की बस्तर में दूसरी परियोजनाओं में भी विरोध प्रदर्शन करने की बात सभा में वक्ताओं द्वारा कही गई, जिसका समर्थन किया गया।

- आंदोलन की रणनीति संघर्ष समिति तय करेगी। इसके लिए समय-समय पर बैठक करके निर्णय लिए जाएंगे।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस