फरसगांव (नईदुनिया न्यूज)। जहां कुछ जगहों पर पुलिस के बर्ताव को लेकर उसकी आलोचना की जाती है, वहीं कुछ जगहों पर उनका मानवीय चेहरा भी देखा जा रहा है। लाकडाउन के दौरान जहां फरसगांव पुलिस एक तरफ सड़कों पर पूरी तरह से मुस्तैद है और लाकडाउन का उल्लंघन करने वालों पर सख्ती बरत रही है, वहीं दूसरी तरफ थाना प्रभारी अपने क्षेत्रों में रुके भूखे प्यासे वाहन चालकों तक राहत पहुंचाते मानवता का परिचय देते नजर आ रहे हैं।

दो दिन से नहीं मिला था भोजन

पेशे से ड्राइवर अब्दुल रहमान जब भूखे प्यासे ट्रक के अंदर सोए हुए थे तब पुलिस द्वारा पूछने पर उन्होंने पुलिस को बताया कि वे दो दिन से भूखे हैं। तीन दिन पहले वह नागपुर से ट्रक में माल भरकर निकला था रायपुर पहुंच कर आनन-फानन में थोड़ा सा खाना नसीब हुआ उसके बाद वह गाड़ी लेकर दंतेवाड़ा तक गया जहां से दो दिन हो गया उसे खाने को कुछ नहीं मिला और भूखा प्यासा फरसगांव पहुंचा जहां फरसगांव थाने में उन्हें भोजन दिया गया साथ ही उनके साथ फरसगांव में रुके कई वाहन चालकों को भी खाना का पैकेट वितरण कर पुलिस द्वारा मानवता का परिचय दिया गया।

थाना प्रभारी विनोद कुमार साहू ने बताया कि लाकडाउन के दौरान कुछ गाड़ी वाले फरसगांव में रूके हुए थे नगर में दुकान हाट सब बंद होने के कारण ये भूखे प्यासे गाड़ी के अंदर ही सोए हुए थे। इनके पास जाकर पूछने पर पता चला कि कोई दो दिन तो कोई एक दिन से भूखे प्यासे हैं जिनके लिए थाने में खाना बनवा कर पैकेट के माध्यम से इनको दिया गया। इसके साथ साथ वाहन चालकों को कोरोना से बचने के लिए जरूरी एहतियात बरतने की भी हिदायत दी। फरसगांव पुलिस के इस नेक कार्य की क्षेत्र में खूब सराहना की जा रही है।

---------------------

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags