जगदलपुर। तीरथगढ़ जल प्रपात में गुरुवार शाम अचानक जल स्तर बढ़ने से सात पर्यटक फंस गए। सभी पर्यटक बारिश में उफनते जल प्रपात का सौंदर्य देखने रायपुर से बस्तर आए थे। इस दौरान इसे करीब से देखने के लिए प्रपात के नीचे उतर गए और तभी उसमें पानी का बहाव तेज हो गया। इस दौरान वे अंदर ही फंसे रहे गए। पर्यटकों के तीरथगढ़ जलप्रपात में फंसने की खबर जैसे ही पुलिस तक पहुंची, दरभा पुलिस तुरंत हरकत में आई और वहां पहुंचकर पयर्टकों को रेस्क्यू कर निकाला।

जानकारी के अनुसार पर्यटक शाम 6 बजे के करीब जलप्रपात पहुंचे थे। अचानक आई तेज बारिश शुरू होने से पर्यटक यहां टापू में बने मंदिर में फंस गए। फारेस्ट विभाग के कर्मचारियों ने इस बात की सूचना दरभा पुलिस को दी जिसके बाद पुलिस एसडीओपी डॉ यूलेण्डन यार्क के नेतृत्व में तीरथगढ़ पहुंच गई। तेज बहाव के बीच पुलिस के जवान एक रस्सी लेकर तेज धारा के बीच पहुंच गए।

पुलिस का पूरा स्टाफ जैसे ही एक दूसरे का हाथ पकड़कर खड़ा हुआ, फंसे हुए पर्यटक उछल कर ताली बजाने लगे। आखिरकार 9: 15 बजे रात को पुलिस ने सभी 7 पर्यटकों को रेस्क्यू कर लिया। एसडीओपी यार्क के नेतृत्व में इस रेस्क्यू ऑपरेशन को विष्णु यादव ने लीड किया। पुलिस जवान, रविकुमार बैगा, सहायक आरक्षक प्यारेलाल पिस्दा, प्रधान आरक्षक घनश्याम मेश्राम, आरक्षक अजय साहू, आरक्षक पुष्पराज ठाकुर और अजित किस्पोट्टा शामिल थे।