जगदलपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। दुर्गोत्सव और बस्तर दशहरा के दौरान 22 से 30 सितंबर तक हावड़ा-जगदलपुर समलेश्वरी एक्सप्रेस का परिचालन प्रभावित रहेगा। संबलपुर रेलमंडल में रेल सुुरक्षा और रेललाइन दोहरीकरण कार्य के लिए इस ट्रेन को हावड़ा से संबलपुर तक चलाने का निर्णय लिया गया है। इसी तरह पिछले 18 दिनों से दंतेवाड़ा-किरंदुल के बीच बंद रेल यात्री सेवा आगे भी और कुछ दिन बंद रहेगी।

विश्व प्रसिद्ध बस्तर दशहरा उत्सव के दौरान जब बड़ी संख्या में पूर्वी भारत से पर्यटक व श्रद्धालु समलेश्वरी एक्सप्रेस में बस्तर आते हैं उनके समक्ष परेशानी खड़ी हो गई है। बस्तर में निवासरत बंगाली समुदाय के लोग जो दुर्गा पूजा में शामिल होने बंगाल जाते हैं वह भी टिकट कराने के बाद अब परेशान हैं।

समलेश्वरी एक्सप्रेस का परिचालन प्रभावित होने से यात्रियों को दूसरे वैकल्पिक मार्ग से आना-जाना होगा। इधर दक्षिण बस्तर में रेल यात्री सेवा से जुड़ी दोनों यात्री ट्रेनें विशाखापटनम-किरंदुल पैसेंजर स्पेशल ट्रेन और विशाखापटनम-किरंदुुल नाइट एक्सप्रेस का परिचालन इस माह के शुरू से ही प्रभावित चल रहा है। नक्सली खतरे की आशंका को देखते दोनों ट्रेनों को दंतेवाड़ा तक चलाया जा रहा है।

सोमवार को वाल्टेयर रेलमंडल प्रशासन ने आदेश जारी कर इन दोनों ट्रेनों को 27 सितंबर तक दंतेवाड़ा से आगे नहीं भेजने का निर्देश दिया है। बस्तर दशहरा उत्सव में 25 सितंबर को काछनगादी विधान के साथ प्रमुख रस्मों की शुरूआत होने जा रही है। जिसमें किरंदुल क्षेत्र से भी ग्रामीण बड़ी संख्या में शामिल होने यात्री ट्रेनों से आते हैं पर ट्रेनों का संचालन दंतेवाड़ा तक ही करने से इसके आगे किरंदुल-बचेली की तरफ से आने वाले ग्रामीणों की परेशानी बढ़ गई है।

हीराखंड-राउरकेला एक्सप्रेस में बढ़ी यात्रियों की भीड़

समलेश्वरी एक्सप्रेस के नौ दिनों तक जगदलपुर नहीं आने की घोषणा के बाद जगदलपुर-भुवनेश्वर एवं जगदलपुर-राउरकेला एक्सप्रेस में यात्रियों की संख्या बढ़ने लगी है। समलेश्वरी में बंगाल की ओर जाने टिकट कराने वाले यात्री टिकट रद करा हीराखंड व राउरकेला एक्सप्रेस में भुवनेश्वर व राउरकेला के रास्ते हावड़ा की ओर जाने की तैयारी में हैं।

स्टेशन मैनेजर एमआर नायक से चर्चा करने पर उन्होंने बताया कि पिछले कुछ महीनों से हीराखंड एक्सप्रेस में यात्रियों की संख्या काफी बढ़ी है। इधर पूर्वी तट रेल जोन भुवनेश्वर के जेडआरयूसीसी सदस्य एवं संसदीय सचिव रेखचंद जैन ने बस्तर दशहरा उत्सव के दौरान समलेश्वरी एक्सप्रेस का संचालन हावड़ा से संबलपुर तक करने पर नाराजगी जताई है।

उनका कहना है कि समलेश्वरी एक्सप्रेस बस्तर के लिए प्रमुख गाड़ी है इसे वैकल्पिक मार्ग से चलाया जा सकता था। जब राउरकेला एक्सप्रेस को उसी रूट से चलाया जा सकता है जिससे समलेश्वरी आना-जाना करती है तो फिर ट्रेन जगदलपुर नहीं भेजने का निर्णय समझ से परे है।

Posted By: Pramod Sahu

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close