जगदलपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। Jagdalpur News: स्वतंत्रता दिवस के दूसरे दिन मंगलवार को स्कूल जा रही छात्रा इंद्रावती नदी की बाढ़ में बह गई थी। उसका शव 22 घंटे बाद बुधवार रात नगर सेना के गोताखोरों ने ढूंढ निकाला। देर से जानकारी के अनुसार छात्रा नम्रता नेताम शहर के शिव मंदिर वार्ड के डोंगाघाट मिडिल स्कूल में कक्षा छठवीं में पढ़ती थी। 11 वर्षीय नम्रता नेताम बीजाभाट की रहने वाली थी। स्कूल घर से आधा किलोमीटर दूर है।

छात्रा इंद्रावती नदी में बाढ़ का पानी स्कूल की ओर जाने वाली सीसी सड़क के ऊपर से बह रहा था। सड़क पार करते हुए नम्रता गिर पड़ी और सड़क किनारे गहरे गड्ढे में समा गई। दूसरे दिन बुधवार को उसका शव मिला। बताया गया कि बीजाभाट और डोंगाघाट के मध्य सीसी रोड वाले इस रपटा में इंद्रावती के बाढ़ का पानी चढ़ जाता है और आवागमन बंद हो जाता है। यह दोनों बस्तियां नगर निगम के शिव मंदिर वार्ड का हिस्सा है। यहां के रहवासियों ने सीसी रोड के रपटा की जगह ऊंचा पुल बनाने की मांग की है।

बसानपुर झिड़का में नहीं बनी पुलिया, जान जोखिम में डालकर नदी पार करते हैं ग्रामीण

बसानपुर झिड़का के ग्रामीण वर्षों से सड़क पुल बिजली पानी स्वास्थ की समस्या से जुझने के साथ ही अब पुलिया के निर्माण अधूरा होने से ग्रामीण अपनी जान को जोखिम में डालकर नदी को पार कर रहे है। इस उफनती नदी को कंधे पर साइकिल को रखकर पारकर रहे है।

ग्रामीणों ने अपनी समस्या सुनाई और कहा कि गांव तक सड़क तो बन गई है। लेकिन पुल का निर्माण नहीं होने से आज यह स्थिति है। शासन प्रशासन को सड़क से पहले पुल का निर्माण किया जाना था, लेकिन सड़क पहले बना दिया और पुल का कार्य अभी भी बारिश के कारण अधूरा है। ग्रामीणों को रोजी रोटी के लिए 10 किलोमीटर जाना पड़ता हैं। वहीं सरकारी राशन वितरण प्रणाली तक आने के लिए इस नदी को पार करना पड़ता है।

Posted By: Ashish Kumar Gupta

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close