जगदलपुर। भाई-बहनों के पवित्र त्यौहार रक्षा बंधन में इस बार भद्रा का अशुभ योग होने के बावजूद अंचल में त्योहार मनाया गया। बहनों ने भद्रा योग शुरू होने के पहले ही भाइयों की आरती उतारकर उनकी कलाईयां सजाईं। भाइयों ने रक्षा का आशिर्वाद देते हुए उन्हें उपहार दिए। हालांकि अधिकतर बहनें शु्‌क्रवार को शुभ मुहूर्त में रक्षा पर्व मनाएंगी।

पं राम किशोर उपाध्याय ने बताया कि गुरूवार को पूर्णिमा तिथि सुबह 09ः35 से लेकर शुक्रवार 07ः16 बजे तक रहेगी पर सुबह 10 बजकर 38 मिनट से लेकर रात आठ बजकर 25 मिनट तक भद्रा योग होने से रात से लेकर शुक्रवार सुबह ही रक्षा बंधन बांधने का उचित मुहूर्त होगा। उन्होंने बताया कि ज्योतिष में भद्रा को अशुभ माना गया है। यह शनिदेव की बहन व सूर्य की पुत्री हैं। इनका स्वभाव भी शनि की तरह विरोधी माना गया है इसलिए इस योग में शुभ कार्य वर्जित हैं। शहर में भद्रा योग के बावजूद अधिकतर बहनों ने अपने भाइयों को परंपरानुसार राखी बांधी। वहीं कुछ बहनों ने रात के बाद भाइयों की कलाईयां सजाई। बहुत से भाइ-बहन आज पर्व मनाएंगे।

बाजार रहा गुलजार

अंचल में हो रहे लगातार बारिश के चलते बाजार सूना रहा लेकिन गुरूवार को मौसम साफ होते ही लोगों की भीड़ उमड़ती देखी गई। शाम चार बजे संजय बाजार, सिरासार, गोलबाजार के सीजन आइटम के दुकानों में राखियां खरीदने ग्राहकों की भारी भीड़ रही। इसके अलावा मिठाई, फल व कपड़े दुकानों में भी देर रात तक अच्छी ग्राहकी होती रही।

बसों में रही भीड़

शहर से बहने दूसरे नगर में अपने भाइयों को राखी बांधने के लिए रवाना हुईं। साथ ही अन्यत्र जगहों से भी बहनें बसों मे सवार होकर यहां पहुंची। इसके चलते बस अड्डे पर काफी भीड़-भाड़ रहा। यहां से रायपुर समेत अन्य मार्गो में चलने वाली बसों में सारे सीट फुल दिखे। आटो चालकों का भी आज अच्छा कारोबार हुआ।

आरफा की बहनों ने पुलिस जवानों की सजाई कलाईयां

आरफा वेल्फेयर फाउंडेशन के द्वारा रक्षाबंधन का त्यौहार जिले में कार्यरत सभी पुलिस अधिकारियों और जवानों के कलाई पर रक्षा सूत्र बांध कर मनाया गया। सभी बहनों ने पुलिस भाइयों की लम्बी उम्र की कामना की। साथ ही पूरे जिले की सुरक्षा के लिए उन्हें साधुवाद दिया।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close