जगदलपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। संभाग के सबसे बड़े और पुराने जिला चिकित्सालय महारानी अस्पताल परिसर में नया सुपर स्पेशियालिटी अस्पताल बनेगा। इसके अलावा ट्रामा सेंटर और नया बर्न यूूनिट भी तैयार किया जाएगा। मंगलवार को कलेक्टर रजत बंसल ने महारानी अस्पताल पहुंचकर स्थानीय प्रशासन के अधिकारियों और चिकित्सकों के साथ सुपर स्पेशियालिटी अस्पताल, ट्रामा सेंटर और बर्न यूनिट के लिए प्रस्तावित स्थल का निरीक्षण किया।

एनएमडीसी लिमिटेड अपनी घोषणा के अनुरूप खूटपदर में सुपर स्पेशियालिटी अस्पताल का निर्माण तो करेगा ही इसके अलावा उसके द्वारा महारानी अस्पताल परिसर में भी सुपर स्पेशियालिटी अस्पताल के निर्माण एवं संचालन में सहयोग किया जाएगा। विदित हो कि महारानी अस्पताल परिसर और इसके आसपास के कुछ क्षेत्रों को मिलाकर पहले यहीं पर मेडिकल कालेज स्थापित करने की पहल हुई थी लेकिन बाद में मेडिकल कालेज को डिमरापाल में स्थापित किया गया। आठ साल पहले महारानी अस्पताल परिसर में केंद्रीय गृह मंत्रालय के द्वारा सुपर स्पेशियालिटी अस्पताल और ट्रामा सेंटर स्थापित करने की बात भी सामने आई थी लेकिन इस प्रोजेक्ट पर काम आगे नहीं बढ़ सका।

मेडिकल कालेज के जुलाई 2018 में डिमरापाल स्थानांतरित होने पर एक समय ऐसा भी आया जब महारानी अस्पताल की स्थिति सुविधाओं के लिहाज से काफी लचर हो गई थी।

2019 में यहां महारानी अस्पताल भवन का उन्नयन करते हुए काफी सुविधाएं जुटाई गई और चिकित्सा सुविधाओं में भी काफी विस्तार किया गया। जिसके बाद वर्तमान में महारानी अस्पताल दोबारा पुराने गौरव को पाने में सफल हुआ है। महारानी अस्पताल परिसर करीब पांच हेक्टेयर से अधिक में विस्तारित है।

बस्तर में होंगे तीन सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल

बस्तर जिले को स्वास्थ्य सुविधा के क्षेत्र में जल्दी ही तीन सुपर स्पेशियालिटी अस्पताल की सौगात मिलेगी। मेडिकल कालेज के सामने केंद्र सरकार के सहयोग से एक सुपर स्पेशियालिटी अस्पताल का निर्माण चल रहा है। अगले साल तक इसका निर्माण पूरा हो जाएगा। जिला प्रशासन ने 2023 तक इसका संचालन भी शुरू करने की योजना बना ली है। दूसरा सुपर स्पेशियालिटी अस्पताल महारानी अस्पताल परिसर और तीसरा नगरनार स्टील प्लांट प्रभावित क्षेत्र में खूटपदर में प्रस्तावित है। विदित हो कि कुछ माह पहले मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने रायपुर में एनएमडीसी के परिक्षेत्रीय विकास कार्यो की समीक्षा बैठक में एनएमडीसी द्वारा तीन सितंबर 2008 को सुपर स्पेशियालिटी अस्पताल, खेल परिसर और आवासीय विद्यालय स्थापना की घोषणा को पूरा करने एनएमडीसी प्रबंधन को निर्देशित किया था। बस्तर विकास प्राधिकरण की बैठक में भी दो माह पहले ये तीनों मुद्दे जोर शोर से उठे थे। जिसके बाद एनएमडीसी के अधिकारियों और कलेक्टर के बीच तीन दौर की बैठक के बाद परिक्षेत्रीय विकास से जुड़े कई मुद्दों पर काम शुरू करने पर सहमति बनी है। सुपर स्पेशियालिटी अस्पताल भी इसमें शामिल है।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags