जगदलपुर (ब्यूरो)। हनुमान जयंती के अवसर पर चंद्र ग्रहण का प्रभाव होने से शनिवार सुबह हनुमान मंदिरों समेत अन्य देवालयों के पट बंद रहे। वहीं हनुमान मंदिरों में महामंत्र जाप, अखंड रामायण व रामधुन का आयोजन किया गया। ग्रहण का असर खत्म होने के उपरांत मंदिरों में विधिवत शुद्धीकरण उपरांत पूजा-अर्चना की गई।

पंडितों के अनुसार शनिवार सुबह तीन बजकर 46 मिनट पर चंद्र ग्रहण का स्पर्श, पांच बजकर 28 मिनट पर खग्रास, साढ़े पांच बजे मध्य तथा सवा सात बजे मोक्ष हुआ। इसके बाद ही मंदिरों के पट खोले गए। स्थानीय टेकरी वाले हनुमान मंदिर में शाम साढ़े सात बजे भगवान को चोला अर्पण किया गया। वहीं 11 हजार दीप प्रज्वलित किए गए।

इसके अलावा पनामा चौक स्थित हनुमान मंदिर, सिरासार चौक, धरमपुरा, आड़ावाल समेत विभिन्न चौक-चौराहों पर विराजित हनुमान प्रतिमाओं को चोला अर्पण किया गया। धरमपुरा स्थित बजरंगबलि मंदिर में अखंड रामधुन का आयोजन किया गया। शुक्रवार से आरंभ अखंड धुनि शनिवार देर शाम को विसर्जित हुई। मेटगुड़ा में नवनिर्मित हनुमान मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा की गई। इस अवसर पर शोभायात्रा निकाली गई। हवन, आरती उपरांत भंडारे का आयोजन किया गया। इस दौरान काफी संख्या में श्रद्धालु मौजूद थे।

---

Posted By:

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020