जगदलपुर। माता संतोषी, शहीद गुंडाधुर, भगतसिंह, प्रवीरचंद्र भंजदेव शक्ति केंद्र में भाजपा के प्रेरणास्रोत, आजाद हिन्दुस्तान के प्रथम बलिदानी डा श्यामाप्रसाद मुखर्जी की पुण्यतिथि बलिदान दिवस के रूप में मनाई गई। भगतसिंह शक्ति केंद्र में मुख्य वक्ता शिवनारायण पांडे ने कहा डा. मुखर्जी एक महान चिंतक थे। उन्होंने देश की एकता-अखंडता को बनाए रखने के लिए काम किया। उनके व्यक्तित्व एवं कृतित्व से प्रेरणा लेकर आदर्शों को आत्मसात करने कार्यकर्ता को संकल्प लेना चाहिए उन्होंने कहा कि कश्मीर के लिए डॉ. मुखर्जी के बलिदान ने पूरे देश को झकझोर कर रख दिया था। वर्तमान पीढ़ी को डा मुखर्जी से प्रेरणा लेनी चाहिए।

माता संतोषी शक्ति केंद्र के मुख्य वक्ता पूर्व भाजपा मंडल अध्यक्ष राजेन्द्र बाजपेयी ने दीप प्रज्ज्वलित कर डा श्यामाप्रसाद मुखर्जी को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए उन्हें आजाद भारत का प्रथम बलिदानी बताया। उनहोंने कहा की जम्मू-कश्मीर एवं बंगाल तथा पंजाब के जो हिस्से आज हमारे नक्शे मे हैं वो श्यामा प्रसाद मुखर्जी की ही देन है। एक देश में दो विधान, दो प्रधान और दो निशान नहीं चलेंगे नहीं चलेंगे के नारे के साथ जम्मू-कश्मीर से जिस धारा 370 एवं 35छ को समाप्त करने के लिए डा. श्यामा प्रसाद मुखर्जी जी ने अपना बलिदान दिया।

मोदी सरकार ने उस कलंक को मिटाया

डा मुखर्जी की शहादत के 66 वर्षों के बाद मोदी सरकार ने उस कलंक को मिटा कर डा मुखर्जी के सपने को साकार कर उन्हें अपनी श्रद्धांजलि दी। प्रवीरचंद्र भंजदेव शक्ति केंद्र के मुख्य वक्ता एल ईश्वर राव ने कहा कि डा मुखर्जी के एक भारत श्रेष्ठ भारत के सपने को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र की भाजपा सरकार साकार कर रही है।

इस अवसर पर शक्ति केंद्र प्रभारी दिगम्बर राव,जिला कार्यकारिणी सदस्य बबलू दुबे,जीत मिश्रा,अनीता यादव,कु. सरिता ठाकुर, चन्द्रा मिश्रा,चम्पा बघेल, लक्ष्‌मी सोनी,ज्योति,चम्पा नेताम,संझारी यादव, सुखमणी बघेल, सावित्री यादव,पल्लवी मिश्रा, पार्षद मोतीराम बघेल, सुधारनी, शिल्पा सोनी, कुसुमलता, मनबाती, जया राव, सुकमती, गणेश श्याम पूर्व पार्षद राणा घोष, शक्ति केंद्र सयोजक उमेश वानखेड़े, गजेंद्र साहू, तबस्सुम, संगीता बघेल, सरिता देवांगन, सकूं यादव आदि थे।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close