जगदलपुर। शनिवार को दरभा नक्सली विस्फोट में जान गंवाने वाले संजीवनी एंबुलेंस के चालक और ईएमटी के शव का अंतिम संस्कार पुलिस सलामी के साथ पूरी हुआ। इस मौके पर प्रशासनिक अधिकारियों सहित क्षेत्रीय जनप्रतिनिधि, साथी कर्मचारी और अन्य लोग शामिल हुए। लोग वासू की सेवा भावना व सह्दयता की चर्चा करते रहे। रो-रो कर परिजनों का बुरा हाल था।

वासू की गर्भवती पत्नी खुद के साथ तीन वर्षीय मासूम को भी संभाल रही थी। वहीं बड़े भाई और अन्य परिजन वासू के दोस्तों को देखते ही बिलख उठते। इस मौके पर संजीवनी एंबुलेंस परिवार की ओर से वासू के परिजनों को दस हजार रुपए नगद सहायता राशि जिला प्रबंधक देवीशंकर व अन्य ने सौंपी। परिजनों को ढांढस बंधाने और अंतिम संस्कार में शामिल होने जिला प्रशासन की ओर से अपर कलेक्टर एमएस रघुवंशी और संयुक्त संचालक स्वास्थ्य सेवाएं डॉ. आरएन पांडेय, अधिकारी-कर्मचारी संयुक्त मोर्चा के संभागीय संयोजक डीके पारासर शामिल हुए। इसी तरह आपातकाल स्वास्थ्य तकनीशियन श्रवण मरकाम का शव फरसगांव ब्लाक के गांव छिटपदर (बोरगांव) में संपन्न हुआ। अंतिम संस्कार में संजीवनी एंबुलेंस सेवा के पदाधिकारियों सहित कोंडागांव विधायक मोहन मरकाम, सीएचएमओ सहित अन्य स्वास्थ्य अधिकारी और जनप्रतिनिधि शामिल हुए। श्रवण मरकाम के परिजनों को भी संजीवनी सेवा की ओर से सहायता राशि सौंपी गई।

Posted By: