Women Self Help Groups Jagdalpur: जगदलपुर। महिला स्वसहायता समूहों की कर्ज माफी को लेकर पेंच फंस गया है। राज्य शासन द्वारा कर्ज माफी को लेकर जारी आदेश में एक अगस्त 2021 के पूर्व प्रदायित ऋण एवं ब्याज की राशि जो अपरिहार्य कारणों से लंबी अवधि से ऋण एवं ब्याज नहीं चुका पा रहे हैं उन महिला स्वसहायता समूहों को ही योजना का लाभ देने की बात कही है।

महिला एवं बाल विकास विभाग के अंतर्गत बस्तर जिले में छत्तीसगढ़ महिला कोष स्वसहायता समूह ऋण योजना के अंतर्गत 1886 महिला स्वसहायता समूहों ने रोजगार के लिए ऋण लिया है। इनमें 537 महिला स्वसहायता समूह ऐसे हैं जिनकी ऋण वसूली हेतु बकाया है। इन समूहों से विभाग को मूलधन और ब्याज मिलाकर एक करोड़ 17 लाख 330 रुपये की वसूल करना है।

उल्लेखनीय है कि आदिवासी बहुल बस्तर जिले में अधिकांश महिला स्वसहायता समूह ग्रामीण क्षेत्र में सक्रिय हैं। इन समूहों की सदस्य महिलाएं गरीब तबके ही हैं। आमतौर पर इनके द्वारा कर्ज लेने से परहेज किया जाता है और जिन समूहों से छत्तीसगढ़ महिला कोष से कर्ज लिया है उनमें 90 फीसद समूहों द्वारा तय समय पर कर्ज की राशि ब्याज सहित जमा कराई जा रही है। इधर शासन से जारी आदेश में लंबी अवधि का उल्लेख किया गया है लेकिन यह अवधि कब से कब तक मानी जाएगी इसका जिक्र नहीं होने से अधिकारी भी दुविधा में आ गए हैं।

विभाग द्वारा अब कालातीत ऋण की अलग से जानकारी एकत्र की जा रही है। कर्ज माफी की घोषणा के बाद माना जा रहा था कि किसान कर्ज माफी की तरह कर्ज लेने वाले सभी महिला स्वसहायता समूहों का कर्ज और ब्याज माफ कर दिया जाएगा लेकिन आदेश में ज्यादा विस्तार से कर्ज माफी को लेकर दिशा निर्देश का उल्लेख नहीं होने से परेशानी बढ़ी है। कर्जमाफी की घोषणा के बाद कर्ज लेने वाले महिला स्वसहायता समूहों के अध्यक्ष-सचिव महिला बाल विकास विभाग के परियोजना कार्यालयों में जानकारी लेने पहुंचने लगे हैं। शासन के आदेश को समझने में लगे परियोजना अधिकारी कर्जमाफी को लेकर सही-सही जानकारी नहीं दे पा रहे हैं। जानकारी मांगने आने वाले अध्यक्ष-सचिवों को परियोजना कार्यालय द्वारा जिला कार्यालय जाकर जानकारी प्राप्त करने को कहा जा रहा है।

अब चार लाख तक का कर्ज मिलेगा

राज्य शासन ने महिला स्वसहायता समूहों को दिए जाने वाले ऋण की सीमा दोगुनी कर दी है। अब महिला समूह पहली बार में एक लाख की बजाय दो लाख और दूसरी बार में दो लाख की बजाय चार लाख तक का कर्ज सकेंगे। ज्ञात हो कि हाल ही में पिछले दिनों तीजा पर्व पर

शासन ने महिला स्वसहायता समूहों के कर्जमाफी का आदेश जारी कर दिया है।

शुरू की जाएगी प्रक्रिया

शासन के आदेश का अध्ययन कर स्व सहायता समूह की कर्जमाफी की प्रक्रिया शुरू की जाएगी।

अवनि कुमार बिस्वाल, जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं बाल विकास विभाग।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local