जांजगीर-चांपा। ग्राम जाजंग से ईंट भट्ठे में कार्य करने झारखण्ड के लातेहार जिला के ग्राम साती तहसील बालूनाथ गए लगभग 31 श्रमिकों ने ईंट भट्ठे के संचालक द्वारा मारपीट, अभद्र व्यवहार और प्रताड़ित किया जा रहा था। श्रमिकों ने कलेक्टर जितेंद्र कुमार शुक्ला को ईंटभठ्ठा में बंधक बनाए जाने की सूचना देकर छुड़ाने के लिए गुहार लगाई। आखिरकार कलेक्टर की पहल पर लातेहार जिले के ईंट भट्ठे में बंधक 31 मजदूरों की सकुशल घर वापसी हो रही है। सभी वहां से अपने गृह ग्राम के लिए निकल चुके हैं।

जिले के सक्ती विकासखंड के ग्राम जाजंग से ईंट भट्ठे में कार्य करने झारखण्ड के लातेहार जिला के ग्राम साती तहसील बालूनाथ गए लगभग 31 श्रमिकों ने ईंट भट्ठे के संचालक द्वारा मारपीट, अभद्र व्यवहार और प्रताड़ित करने की सूचना कलेक्टर जितेंद्र कुमार शुक्ला को मैसेज के माध्यम से दी। श्रमिकों ने लिखा कि हम छत्तीसगढ़ जांजगीर - चाम्पा जिले के श्रमिक है। हम मजदूरी करने आये थे। हमें बंधक बना लिया गया है। हमें प्रताड़ित किया जा रहा है। हमें हमारी मजदूरी नहीं दी जा रही हैं।

कलेक्टर साहब हमें यहां से छुड़वाइये। संदेश मिलते ही उन्होंने बंधक मजदूरों की सकुशल वापसी के लिए तत्परता दिखाई। उन्होंने श्रम विभाग सहित अन्य अधिकारियों को निर्देशित किया कि जो भी मजदूर झारखंड में बंधक है, उन्हें सुरक्षित घर लाने का प्रबंध किया जाए। श्रमिकों के साथ महिलाएं एवं बच्चें भी शामिल हैं। कलेक्टर द्वारा उपायुक्त व जिला दण्डाधिकारी, पुलिस अधीक्षक एवं श्रम अधीक्षक लातेहार झारखण्ड को पत्र प्रेषित कर आवश्यक जानकारी भी दी गई। पत्र के माध्यम से बताया गया कि नवीन गुप्ता व गनेश डाक्टर गुप्ता भट्ठा, ग्राम-साती, तहसील व थाना-बालुनाथ, जिला- लातेहार झारखण्ड में जांजगीर जिले के 31 श्रमिकों को बंधक बनाकर कार्य लिया जा रहा है। कलेक्टर के इस पहल से झारखंड में बंधक श्रमिकों को मुक्त करा लिया गया है। वहां से श्रमिक अपने-अपने गृह ग्राम के लिए रवाना हो चुके हैं।

Posted By: Yogeshwar Sharma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close