सक्ती (नईदुनिया न्यूज )। नगर पालिका द्वारा ट्यिूनबीन नगर के 1 से 18 वार्डो में जरूरत के अनुसार लगाये गये थे परंतु जिस हिसाब से लगाये गये थे लगाने के बाद 90 प्रतिशत टियूनबिन या तो गायब हो गये या स्वार्थी तत्वों ने डिब्बो में आग लगा दी । एक तरफ तो शासन स्वच्छ भारत मिशन के तहत कई प्रकार के कार्य कर रही है परंतु नगर के जितनी जगह टियूनबिन लगाये गये थे। वह एकाध जगह दिखाई पड़ रहे हैं। टियूनबिन लगाने के बावजूद भी नगर पालिका द्वारा देखरेख की कोई व्यवस्था नही की गई। वार्ड पार्षदों को ध्यान देना चाहिये था वह भी अनदेखा करते चल रहे थे। साथ ही नगर पालिका के कुछ कर्मचारियों की टियूनबिन के देखरेख के लिये लगाना था। स्वच्छ भारत के लाखों रूपए के टियूनबिन शासन द्वारा नगर पालिका को उपलब्ध कराये गये थे । परंतु देखरेख के अभाव से एक भी नहीं दिख रहे है। एक पार्षद को पूछने पर इन डिब्बों की देखरेख क्यों नही की गई तो उनका कहना था कि वार्ड की समस्याओं को देखें की डिब्बे की रखवाली करें। पूर्व पार्षद सम्मेलाल गबेल ने बताया कि दीपावली की रात्रि में वार्ड 14 में लगे टियूनबिन को असमाजिक तत्वों द्वारा फटाका लगाकर आग लगा दिया गया था । स्वच्छता दीदीयां 1 से 18 वार्ड में घर-घर जाकर कचरा उठाते है और टिपर वाहन में लाउडी स्पीकर लगाकर गाना ''कचरा वाला आया है घर से कचरा निकालों'' बजाकर मोहल्ले वालों से कचरा लेते है और अपनी गाड़ियों में डालकर एसएलआर सेन्टर में कचरा की छटनी करते है । उसके बावजूद भी नगर के चौक चौराहों में नागरिकों द्वारा कचरा को डाल देते है ।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close