जांजगीर-चांपा (नईदुनिया न्यूज)। एम्स रायपुर में जिंदगी और मौत के बीच संघर्ष कर रहे ढाई साल के मासूम को बचाने सार्थक पहल हुई है। गंभीर बीमारी से घिरे इस नवजात के आपरेशन में करीब 12 से 13 लाख रुपए का खर्च है, लेकिन घर की माली हालत खस्ता होने के कारण स्वजनों ने प्रदेश कांग्रेस सचिव इंजी. रवि पाण्डेय से गुहार लगाई। उन्होंने मासूम की जान बचाने महत्वपूर्ण पहल की। उनकी पहल पर मुख्यमंत्री ने 12 लाख 30 हजार रूपए की स्वीकृति मुख्यमंत्री विशेष स्वास्थ्य सहायता योजना से दी है।

गौरतलब है कि नवागढ़ बुढ़ेना निवासी शिवनंदन कश्यप का ढाई साल का मासूम शिवांश कश्यप रायपुर एम्स में भर्ती है। उसे गंभीर बीमारी है। डाक्टरों का कहना है कि आपरेशन के बाद ही शिशु को गंभीर बीमारी से राहत मिल सकती है। आपरेशन में करीब 12 लाख रुपए का खर्च है। लेकिन रोजी मजदूरी कर जीवन की गाड़ी चलाने वाले शिवनंदन कश्यप के पास इतनी राशि नहीं है कि वह अपने बेटे का आपरेशन करा सके। ऐसे में उसने प्रदेश कांग्रेस सचिव इंजीनियर रवि पाण्डेय से गुहार लगाई। उन्होंने समय की नजाकत को समझते हुए मुख्यमंत्री सहायता राशि के लिए सीएम भूपेश बघेल को पत्र लिखा। उनकी अनुशंसा से राज्य नोडल एजेंसी के माध्यम से बालक के इलाज के लिए 12 लाख 30 हजार रुपए की स्वीकृति दी है। अब इस राशि से आपरेशन हो सकेगा और शिशु की जान बच जाएगी। शिवनंदन कश्यप ने इस सहयोग के लिए इंजीनियर पाण्डेय का आभार जताया है। वहीं रवि पांडेय ने कहाकि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने संवेदनशीलता का परिचय देते हुए राशि की स्वीकृति शीघ्र ही दी है। राज्य की सरकार जरूरतमंदों की मदद के लिए तत्पर है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local