जांजगीर-चांपा (नईदुनिया न्यूज)। जिले के प्रभारी सचिव धनंजय देवांगन ने कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में विभागीय अधिकारियों की बैठक लेकर कामकाज की समीक्षा की। उन्होंने सभी एसडीएम, जनपद सीईओ, तहसीलदारों और जिला स्तरीय अधिकारियों से कहा कि किसी भी योजना या प्रकरण पर कार्रवाई करने की प्रक्रिया ही पर्याप्त नहीं है, जरूरतमंद या पीड़ित व्यक्ति तक शासन की योजनाओं का लाभ पहुंचाना हमारी प्राथमिकता होनी चाहिए।

प्रभारी सचिव देवांगन ने विभागवार शासन की योजनाओं की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि शासन की योजनाओं का क्रियान्वयन कराना हम सभी की जिम्मेदारी है। हम कभी यह न सोचे कि यह हमारे विभाग का नहीं है। हमारी कोशिश होनी चाहिए कि हम जरूरतमंद और पात्र व्यक्ति को शासन की योजनाओं से लाभान्वित कर सके और उनकी समस्याओं का निराकरण समय पर कर पाएं। इसके लिए आपस में समन्वय की आवश्यकता है। प्रभारी सचिव ने टीकाकरण को बढ़ाने के निर्देश दिए। उन्होंने हमर तिरंगा अभियान में सभी अधिकारियों को भागीदारी के निर्देश दिए। प्रभारी सचिव ने पंचायत एवं ग्रामीण विकास से संबंधित जनकल्याणकारी योजनाओं और लंबित राजस्व प्रकरणों पर विशेष ध्यान देने की आवश्कता बताई। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग टीकाकरण बढ़ाने, महिला एवं बाल विकास को गर्भवती महिलाओं में एनीमिया की जांच कर गरम भोजन और पोषण आहार प्रदान करने, मुख्यमंत्री शहरी स्लम स्वास्थ्य योजना के माध्यम से गर्भवती महिलाओं के स्वाथ्स की जांच करने के निर्देश भी दिए। देवांगन ने जिले में खाद की उपलब्धता की समीक्षा करते हुए निर्देशित किया कि खाद की उपलब्धता कहीं भी शून्य नहीं होनी चाहिए। उन्होंने राजस्व अधिकारियों को भू-अर्जन के लंबित प्रकरणों का निराकरण करने के साथ नामान्तरण, सीमांकन, बंटवारा, फौती, ऋण पुस्तिका वितरण सहित राजस्व के प्रकरणों को लंबित नहीं रखने और समय पर निराकृत करने के निर्देश दिए। प्रभारी सचिव ने डीईओ को निर्देशित किया कि स्कूलों में अनुसूचित जाति, अनुसुचित जनजाति और अन्य पिछड़ा वर्गों के ऐसे विद्यार्थियों की पहचान अवश्य कर लें, जिनका जाति प्रमाण पत्र नहीं बना है, ऐसे विद्यार्थियों का प्रमाण पत्र जरूर बनवाएं। उन्होंने स्कूल ड्रेस और पाठ्यपुस्तकों के वितरण की जानकारी भी ली। उन्होंने जनपद सीईओं को निर्देशित किया कि सामाजिक सुरक्षा से संबंधित पेंशन, राशन कार्डधारियों को योजनाओं का लाभ हितग्राहियों को मिल पा रहा है या नहीं यह फील्ड पर जांच कर पता लगाए। बैठक में सक्ती जिला की ओएसडी नूपुर राशि पन्नाा, जिला पंचायत सीईओ डा. फरिहा आलम सिद्दीकी, डीएफओ सौरभ सिंह सहित सभी एसडीएम एवं विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।

शासकीय योजनाओं में अतिक्रमण न बने बाधा

उन्होंने सभी एसडीएम और तहसीलदारों को निर्देशित किया कि किसी भी शासकीय योजनाओं में अतिक्रमण बाधा न बने। देवांगन ने जिले में मत्स्य पालन को बढ़ाने, जिले में कही भी बोर खुला स्थिति में न हो इसके लिए पीएचई के ईई को त्वरित कार्रवाई के साथ प्रमाणपत्र संग्रहित करने के निर्देश दिए।

आंगनबाड़ी केंद्रों का करें निरीक्षण

प्रभारी सचिव ने अधिकारियों को आंगनबाड़ी केंद्रों का निरीक्षण के निर्देश भी दिए। प्रभारी सचिव देवांगन ने राजीव गांधी किसान न्याय योजना, राजीव गांधी भूमिहीन न्याय योजना, गोधन न्याय योजना की भी जानकारी ली। उन्होंने जिले में सिंचाई के लिए पानी की उपलब्धता, वर्षा की स्थिति की जानकारी लेते हुए भू राजस्व वसूली से संबंधित प्रकरणों में प्रगति लाने के निर्देश दिए।

निर्माण कार्यों को गुणवत्ता के साथ समय पर करें पूरा

बैठक में प्रभारी सचिव ने ग्राम पंचायतों में कार्यों का मूल्यांकन समय पर करने के निर्देश देते हुए कहा कि इसमें विलंब या लापरवाही बिल्कुल भी बर्दाश्त नहीं कि जाएगी। उन्होंने निर्माण कार्यों की प्रगति की समीक्षा करते हुए समय सीमा पूरा होने के बाद कार्य पूरा नहीं होने पर नाराजगी वयक्त की और समय पर पूरा करने के निर्देश दिए। उन्होंने सभी प्रकार के निर्माण कार्यों में गुणवत्ता से समझौता नहीं करने के निर्देश दिए।

प्रभारी सचिव के दिए निर्देशों का करें पालन

कलेक्टर तारन प्रकाश सिन्हा ने प्रभारी सचिव द्वारा दिए गए सभी निर्देशों का पालन सुनिश्चित करने के निर्देश विभागीय अधिकारियों को देते हुए कहा कि देवांगन दीर्घ प्रशासनिक अनुभव वाले वरिष्ठ अधिकारी है। उनकी मंशानुरूप शिक्षा, स्वास्थ्य, सुपोषण सहित शासन की महत्वपूर्ण योजनाओं का बेहतर क्रियान्वयन हो और जो भी शिकायत है, उसका समय पर निराकरण करें, इस दिशा में और भी अच्छे से कार्य किया जाएगा।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close